पटना साहिब विधानसभा का कौन होगा किंग, महागठबंधन के प्रवीण कुशवाहा या फिर भाजपा के नंद किशोर यादव

 पटना साहिब विधानसभा का कौन होगा किंग, महागठबंधन के प्रवीण कुशवाहा या फिर भाजपा के नंद किशोर यादव

पटनासिटी.. चुनावी बिसात बिछ चुकी है। सभी रणबांकुरे मैदान में हैं। कोई नई पारी खेलने को लड़ाई लड़ रहा है तो कोई सीट रिनुअल करने की। इन सबके बीच में पटनासाहिब में चुनावी गणित बिल्कुल साफ हो चुकी है। कई दिनों से पटना साहिब में महागठबंधन से कौन उम्मीदवार होगा, इसका पर्दा अब उठ गया है। महागठबंधन से कांग्रेस के प्रवीण सिंह कुशवाहा पटना साहिब से उम्मीदवार होंगे, जबकि भाजपा से नंदकिशोर यादव मैदान में है। नंदकिशोर यादव लगातार छठी बार इस विधानसभा के विधायक रहे हैं और अब फिर सातवीं बार वो चुनावी समर में है। अगर 2015 बिहार विधानसभा चुनाव की बात करें तो राजद के संतोष मेहता से वो हारते-हारते बचे थे, लेकिन इससे पहले जितने भी चुनाव हुए, उसमंे  नन्दकिशोर यादव की जीत का अंतर बहुत काफी था। हालाकि वर्तमान विधायक  नंदकिशोर यादव का इस बार क्षेत्र में कई जगहों पर क्षेत्र के विकास नहीं करने को लेकर विरोध भी देखा गया है। 


वहीं, विधायक नंदकिशोर यादव का दावा है कि उन्होंने क्षेत्र का सम्पूर्ण विकास किया है। लेकिन फिर भी अभी भी मूलभूत जो स्थानीय मुद्दे है वो मुंह बाए हुए हैं। मसलन शहर को गन्दगी से निजात दिलाना, पटनासिटी की मारूफगंज मंडी में शुलभ शौचालय की कमी, व्यवसायियांे में सुरक्षा की भावना की सबसे बड़ी कमी, स्कूल की जर्जर भवन, कन्या हाई स्कूलों की मांग, भी बहुत पुरानी है। छात्राओं को पोस्ट ग्रेजुएट करने के लिए पटनासिटी से बाहर  भी जाना पड़ता है। हालांकि नंदकिशोर यादव जी का दावा है कि इस क्षेत्र के विकास के लिए हमने बहुत सारे काम किए हैं, मसलन चैक शिकारपुर आरओबी, पटना सिटी को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए हमने गायघाट से लेकर दमराही घाट तक पहुंचपथ तक बनवाया। 

फिलहाल महागठबंधन के तरफ से प्रवीण सिंह कुशवाहा ने नामंकन दर्ज कराकर चुनावी रणक्षेत्र में कूद पड़े हैं और उनका कहना है कि पटना साहिब में पिछले 25 बर्षो से जो विकास का काम नहीं हुआ है, उसे जितने के बाद सबसे पहला काम वही करेंगे। उनके राज में जनता मालिक होगी ना कि मैं। हालांकि पटना साहिब के चुनावी समीकरण को अगर देखा जाए तो स्थानीय वर्तमान विधायक नन्दकिशोर यादव जी का पलड़ा भाड़ी पड़ता दिखाई दे रहा है और वो यहां से फिर से एक बार बिजय के रास्ते पर जा सकते है। पटना साहिब विधानसभा को 


आंकड़ों में जानिए की कौन किस पर है भाड़ी

2015 चुनाव में जीत का परिणाम 

जीत..भाजपा प्रत्याशी-नंदकिशोर यादव जीते, मिले वोट 88,108 

पराजित.. राजद प्रत्याशी-संतोष मेहता, मिले वोट 85,316 

पटना साहिब विधानसभा में एक नजर 2020 में 

पटना साहिब विधानसभा में- 542 मतदान केंद्र 

मूल मतदान केंद्र संख्या- 325 

सहायक मतदान केंद्र संख्या- 217

मतदान भवनों की संख्या-134 

कुल मतदाता- 3,56,656

पुरुष मतदाता-1,70,084 

महिला मतदाता-1, 86,547

पटनासाहिब से रजनीश कुमार की विशेष रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News