10 लाख लोगों को नौकरी देने का जिसने आइडिया दिया, उसी पर तेजस्वी ने सबसे अधिक भरोसा किया, जानिए कौन है वो....

10 लाख लोगों को नौकरी देने का जिसने आइडिया दिया, उसी पर तेजस्वी ने सबसे अधिक भरोसा किया, जानिए कौन है वो....

पटना... बिहार विधानसभा चुनाव का परिणाम कुछ भी हो, लेकिन जिस तरह से राजद नेता और लालू यादव के छोटे बेटे पछिले 2 महीनों में अपना जलवा दिखाया है वो किसी 20-20 क्रिकेट के फाॅरमेट से कम नहीं है। ताबड़तोड़ रैलियों का रिर्काड हो या फिर युवाओं के बीच अपना छाप छोड़ना। हर मोर्चे पर महागठबंधन के रूप में बिहार को एक नया विकल्प देने की भरपूर कोशिश की है। अब ये कोशिश कितनी रंग लाती है, ये आज शाम तक तय होगा। 

इस चुनाव में तेजस्वी के लिए पार्टी के कई कद्दावरों ने राजनीतिक रणनीति बनाई है, जिससे तेजस्वी के साथ-साथ पार्टी को भी फायदा हुआ है। खुद आगे आर चुनाव प्रचार का जिम्मा संभाला तो सोशल मीडिया पर भी तेजस्वी और उनके चाहने वालों ने उन्हें हर क्षेत्र में बेहतर बताया, लेकिन सबसे आगे और तेजस्वी सबसे खास रहे संजय यादव ने, जिन्होंने तेजस्वी के पूरे आईटी सेल की जिम्मेदारी अपने पास रखी और सोशल मीडिया पर चुनाव प्रचार में उन्हें सबसे तेज रखा।  9 नवंबर को महागठबंधन के सीएम फेस तेजस्वी यादव ने अपना जन्मदिन मनाया। उन्हें सोशल मीडिया पर ढेर सारी बधाईयां मिली। तेजस्वी यादव को खास शख्स संजय यादव ने भी बधाई दी है। संजय यादव साल 2015 से ही तेजस्वी यादव के साथ नजर आते रहे हैं। इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव में संजय यादव ने तेजस्वी के साथ नहीं उनके पीछे मोर्चा संभाल रखा था।

तेजस्वी के पीछे नौकरी छोड़कर आए संजय

जनकारी के मुताबिक संजय यादव तेजस्वी यादव को आईपीएल के समय से जानते हैं। तेजस्वी यादव ने आईपीएल छोड़कर बिहार का रूख किया और उनके पीछे संजय यादव भी आईटी की नौकरी छोड़कर पहुंच गए। 2015 के चुनाव के पहले ही संजय यादव ने लालू यादव के परिवार के सोशल मीडिया प्लेटफार्म को जिम्मा संभाल लिया था। माना जाता है कि संजय यादव तेजस्वी यादव के लिए सबसे भरोसेमंद हैं।

संजय के कहने पर आरक्षण का मुद्दा उठाया

साल 2015 के चुनाव में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण की समीक्षा पर बयान दिया था। संजय यादव के कहने पर लालू यादव ने आरक्षण के मुद्दे को खूब उछाला था। इस बार के चुनाव में तेजस्वी यादव ने रोजगार और सत्ता में आने पर 10 लाख नौकरी देने की बात कही। माना जाता है इसके पीछे संजय यादव का दिमाग काम कर रहा है। वो खुद को तेजस्वी यादव का राजनीतिक सलाहकार भी बताते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News