पत्नी से प्रताड़ित हो 150 पुरुषों ने गंगा में लगाई डुबकी और की पिशाचिनी मुक्ति पूजा

पत्नी से प्रताड़ित हो 150 पुरुषों ने गंगा में लगाई डुबकी और की पिशाचिनी मुक्ति पूजा

न्यूज़ 4 नेशन डेस्क : हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है कि पवित्र नदी गंगा में स्नान करने से मनुष्य के सारे पाप धुल जाते हैं. पर बनारस में एक अजीबो-गरीब मामला देखने को मिला. वहां 150 की संख्या में पुरषों ने सामूहिक रूप से गंगा स्नान किया पर पाप धुलने के लिए नहीं बल्कि अपनी पत्नियों से छुटकारा पाने के लिए. 


बता दें कि पत्नियों की प्रताड़ना से तंग आकर 150 पुरुष ने पिछले हफ्ते बनारस में जाकर गंगा में डुबकी लगाई और अपनी पत्नियों के नाम पर पिंड दान किया. उसके बाद सबने  पिशाचिनी मुक्ति पूजा की. ऐसा करने के पीछे कारण यह है कि ताकि उनकी पत्नी से जुड़ी बुरी यादें भी उनके साथ ना रहें और वह अपनी आगे की जिंदगी चैन से जी पाएं.


‘सेव इंडियन फैमिली फाउंडेशन’ ने अपने 10 साल पूरा होने के उपलक्ष्य में यह पूजा करवाई. यह संस्था पत्नियों के हाथों सताए पीड़ित पुरुषों के लिए काम करती है. इस संस्था के फाउंडर राजेश वकारिया का कहना है कि हमारे देश में जानवरों की रक्षा तक के लिए मंत्रालय बना है पर पुरुषों के हक के लिए कोइ मंत्रालय नहीं है. यानि हमारे देश में पुरुषों को जानवरों से भी बदतर समझा जाता है. उन्होंने बताया कि पूजा में शामिल हुए सभी पुरुषों की जिंदगी उनकी पत्नियों ने नरक कर दी थी. इसलिए पत्नी पीड़ित पुरुष ने जीते जी अपनी पत्नियों का पिंडदान किया. राजेश वकारिया  ने बताया कि हर साल 92 हजार पुरुष मेंटल टॉर्चर की वजह से आत्महत्या कर लेते हैं जबकि महिलाओं में ये आंकड़ा 24 हजार का है. 


Find Us on Facebook

Trending News