17 तबलीगी जमात के लोगों का बन्धु तिर्की ने किया स्वागत, कोरोना फैलाने के आरोप में हुए थे गिरफ्तार

17 तबलीगी जमात के लोगों का बन्धु तिर्की ने किया स्वागत, कोरोना फैलाने के आरोप में हुए थे गिरफ्तार

Ranchi: मांडर विधायक बंधु तिर्की ने तबलीगी जमात के 17 लोगों को झारखंडी शॉल ओढ़ाकर और गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया. तबलीगी जमात के लोग इसी वर्ष 16 मार्च को अपने-अपने देश से हिंदुस्तान आए थे. कोरोना फैलाने के आरोप में इन विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था. तीन महीना से अधिक समय तक रांची जेल में गुज़ारने के बाद इन नागरिकों को रांची सिविल कोर्ट से जुर्माने की राशि अदा करने के बाद बरी किया गया है.

मांडर विधायक बंधु तिर्की ने कहा की मुम्बई हाई कोर्ट के फैसले में साफ तौर पर कहा के इन जमात को राजनीति षड्यंत्र का शिकार बनाया गया. बलि का बकरा बना कर केंद्र सरकार ने कोविड-19 की नाकामी को छुपाया है. बन्धु तिर्की ने कहा की कोर्ट के उस फैसले के आधार पर रांची झारखंड के तमाम 17 विदेशी और एक मकामी तबलीगी जमात के केस को हाई कोर्ट से जमानत मिलने के बाद सीजेएम कोर्ट ने खत्म कर दिया. 

कोर्ट के इस फैसले से इन विदेशी नागरिकों के वतन वापसी का रास्ता साफ हो गया है. आज उसी सिलसिले में विधायक बंधु तिर्की ने अतिथि देवो भव: के परंपरागत वचनों को निभाते हुए झारखंडी शॉल ओढ़ाकर और गुलदस्ता देकर स्वागत किया और अपनी शुभकामनाएं दी. रांची में बिताए उन दिनों को याद करते हुए एक संदेश दिया के भारत अपने अतिथियो का सम्मान करता है.

सब गम भुला कर आप हिंदुस्तान आएं, हिंदुस्तान आपका स्वागत करने को तैयार है. याद रहे कि बंधु तिर्की लगातार पांच महीनों से इन तबलीगी जमात के लोगों को हर संभव न्याय के लिए मदद करते रहें. 17 तबलीगी जमात में इंग्लैंड के 4, मलेशिया के 8 जिसमे 4 महिला हैं. गाम्बिया के 2, वेस्टइंडीज के 2 और हॉलैंड के 1 हैं.  तनवीर अहमद ने कहा कि कोर्ट के स्टिफाई कॉपी का इंतजार था, आज वो सारा कागज़ात आ गया है. अब सभी जमात के साथी इंशाअल्लाह अपने अपने मुल्क वापस होंगे. इस मौके पर सैयद इक़बाल इमाम, तनवीर अहमद, हाजी मेराज, मोहम्मद नदीम, प्रोफेसर मसूद जामी समेत कई लोग थे.

Find Us on Facebook

Trending News