उत्तर प्रदेश में मंदिरों और मस्जिदों से हटाए गए 18 हजार लाउडस्पीकर, 30 अप्रैल को आएगी बड़ी रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश में मंदिरों और मस्जिदों से हटाए गए 18 हजार लाउडस्पीकर, 30 अप्रैल को आएगी बड़ी रिपोर्ट

DESK. उत्तर प्रदेश में धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतारने या धीमी आवाज में बजाने को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है. राज्य में पिछले कुछ दिनों के दौरान कई बड़े मंदिरों और मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतारे गये हैं या फिर उनकी आवाज धीमी की गई है. दरअसल यूपी में 30 अप्रैल तक लाउडस्पीकर  को लेकर यूपी सरकार ने प्रशासन से  रिपोर्ट तलब की है. 

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) ने गुरुवार को कहा कि राज्य में लगभग 39,000 लाउडस्पीकरों की आवाज़ कम कर दी गई है और लगभग 17,000 लाउडस्पीकर धार्मिक स्थलों से हटा दिए गए हैं. हमें सभी समुदायों के लोगों का समर्थन मिला है. हम राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सब कुछ कर रहे हैं.  

वहीं राज्य के एडीजी (क़ानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि अब तक 40,000 ऐसे प्रकरण हैं जिसमें लाउडस्पीकर की ध्वनि को कम किया गया है, 18,000 लाउडस्पीकर हटाए जा चुके हैं. इसमें सबसे बड़ी बात है कि लोगों ने अपनी मर्जी से ये किया है. सभी धर्म गुरुओं ने भी इस आदेश का स्वागत किया है.

यूपी में अजान को लेकर उपजे विवाद के बाद लाउडस्पीकर हटाने या आवाज कम करने का अभियान शुरू हुआ था. इसे लेकर जहां यूपी में अब तक किसी तरह का तनाव नजर नहीं आया है वहीं इसी मुद्दे पर महाराष्ट्र में राजनीति हो रही है. मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने ट्वीट करते हुए लिखा कि धार्मिक स्थलों, खासकर मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए मैं योगी सरकार को तहे दिल से बधाई देता हूं और उनका आभारी हूं. उन्होंने उद्धव सरकार पर तंज सकते हुए कहा कि दुर्भाग्य से महाराष्ट्र में योगी नहीं भोगी है.


Find Us on Facebook

Trending News