190 गांवों में कृषि कार्यक्रम की हुई शुरुआत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश

190 गांवों में कृषि कार्यक्रम की हुई शुरुआत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश

पटना। जल जीवन हरियाली अभियान के तहत जलवायु के अनुकूल कृषि कार्यक्रम के माध्यम से 30 जिलों में प्रथम वर्ष एवं 8 जिलों में द्वितीय वर्ष के कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के द्वारा किया गया। इस योजना को 190  गांवों में लांच किया गया. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया की फसल अवशेष जलाने वाले किसानों को ये समझाये कि इससे पर्यावरण का नुकसान होता है और आने वाले पीढ़ी भी इससे प्रभावित होगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस बार धान की अधिप्राप्ति का लक्ष्य  45 लाख मैट्रिक टन रखा है जो मिनिमम है, इस कार्यक्रम के माध्यम से किसानों को आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

गौरतलब है कि जल जीवन हरियाली बिहार सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। जिसमें किसानों को आगे बढ़ाने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। सीएम नीतीश की कोशिश है कि बिहार के किसानों की आर्थिक स्थिति को बेहतर किया जा सके। सीएम नीतीश ने कहा कि इन योजनाओं से किसानों को संकट की स्थिति में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि अब तक जो योजना बनती थी, उसमें मौसम अनुकूल खेती को महत्व नहीं दी जाती थी। जबकि हमने कोशिश शुरू की किसानों को मौसम के अनुसार खेती करने के लिए प्रेरित करें।

सीएम ने इसके लिए पूर्व मंत्रियों और अधिकारियों को धन्यवाद दिया कि बिहार में अब इस योजना को सभी जिलों में लागू किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पहले यह योजना प्रयोग के तौर पर सिर्फ आठ जिलों में लागू किया गया था, जहां इसके परिणाम बेहद सकारात्मक मिले थे

Find Us on Facebook

Trending News