बिहार के 12 जिलों के DM समेत 20 IAS अफसर हैं लापरवाह, पब्लिक का काम क्या खाक करेंगे ?

बिहार के 12 जिलों के DM समेत 20 IAS अफसर हैं लापरवाह, पब्लिक का काम क्या खाक करेंगे ?

PATNA: बिहार के आईएएस अधिकारी किस कदर लापरवाह हैं उसकी एक बानगी दिखी है. सरकार ने कार्य में लापरवाह रहे वैसे 20 आईएएस अधिकारियों की सूची सार्वजनिक की है. सामान्य प्रशासन विभाग के अवर सचिव ने 12 जिलों के कई डीएम समेत कुल 20 आईएएस अधिकारियों को फिर से पत्र भेजा है.

सामान्य प्रशासन विभाग ने 20 अफसरों की लापरवाही की खोली पोल

सामान्य प्रशासन विभाग के पत्र में कहा गया है कि लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी मसूरी में 22 फरवरी 2021 से 19 मार्च 2021 की अवधि में अनिवार्य मध्य सेवाकालीन प्रशिक्षण चरण-3 शुरू होना है. कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग भारत सरकार के पत्र के बाद सामान्य प्रशासन विभाग ने इस संबंध में 22 दिसंबर 2020 को ही पत्र जारी किया था. सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा कहा गया था कि प्रशिक्षण में भाग लेने को लेकर संबंधित वेबसाइट पर ऑनलाइन निबंधन करते हुए उसकी हार्ड कॉपी के साथ अनुरोध पत्र उपलब्ध कराना था। लेकिन 20 आईएएस अधिकारियों ने एक महीना बीतने के बाद भी अनुरोध पत्र उपलब्ध नहीं कराया है.

सामान्य प्रशासन विभाग ने कहा है कि अभी तक 20 अफसरों ने अनुरोध पत्र उपलब्ध नहीं कराया है, जबकि ऑनलाइन निबंधन किए जाने की अंतिम तारीख 25 जनवरी 2021 है . सामान्य प्रशासन विभाग ने एक बार फिर से सभी अधिकारियों से अनुरोध किया है कि संबंधित वेबसाइट पर ऑनलाइन निबंधन करते हुए उसकी हार्ड कॉपी के साथ प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने हेतु अनुरोध पत्र उपलब्ध कराएं.

12 जिलों के डीएम का भी नाम शामिल

जिन आईएएस अधिकारी ने लापरवाही बरती है उसमें दरभंगा के डीएम त्यागराजन एस. एम., छपरा के डीएम देओल निलेश रामचंद्र, जहानाबाद के डीएम नवीन कुमार ,सहरसा के डीएम कौशल कुमार, पश्चिम चंपारण के डीएम कुंदन कुमार, शेखपुरा के डीएम इनायत खान, बेगूसराय डीएम अरविंद कुमार वर्मा, मधुबनी के डीएम अमित कुमार, मुंगेर के नगर आयुक्त श्रीकांत शास्त्री, गोपालगंज डीएम नवल किशोर चौधरी, भागलपुर डीएम सुब्रत कुमार सेन, रोहतास डीएम धर्मेंद्र कुमार,कैमूल डीएम नवदीप शुक्ला समेत कुल 20 आईएएस अधिकारी शामिल हैं.


Find Us on Facebook

Trending News