लोकसभा चुनाव: बिहार की इन सीटों पर होगा दिलचस्प मुकाबला, टिकी हैं सबकी नजरें

लोकसभा चुनाव: बिहार की इन सीटों पर होगा दिलचस्प मुकाबला, टिकी हैं सबकी नजरें

PATNA : लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में बिहार की 5 सीटों पर दिलचस्प मुकाबला देखने को मिल रहा है। बिहार की 5 सीटों पर ना सिर्फ इस बार सबकी नजर होगी बल्कि ये सीटें किसी भी पार्टी के लिए संसद का रास्ता तय करने में भी काफी मददगार साबित होंगी।इस चरण में कई क्षत्रपों की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी हुई है। बिहार की 5 लोकसभा सीटों पर सोमवार को वोटिंग होनी है।

बेगूसराय
 बिहार में बेगूसराय की सीट हमेशा ही चर्चा में रहती है। पर, इस बार यह सीट इसलिए भी ज्यादा चर्चा में है कि यहां से जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और युवा चेहरा कन्हैया कुमार सीपीआई से चुनाव लड़ रहे हैं। उधर इसी सीट से बीजेपी के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह उनको चुनौती दे रहे हैं। आरजेडी के उम्मीदवार तनवीर हसन मुकाबले को त्रिकोणीय बना रहे हैं। गिरिराज सिंह ने प्रखर राष्ट्रवाद के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया है। अब सबकी नजरें कल के मतदान पर टिकी हैं। 

मुंगेर
 हमेशा ही चर्चित रही मुंगेर सीट इस बार फिर हाई प्रोफाइल सीटों में शामिल है। मुंगेर में मोकामा विधायक अनंत सिंह की पत्नी और कांग्रेस उम्मीदवार नीलम देवी और जदयू के राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के बीच कांटे का मुकाबला है। यहां से दोनों गठबंधन के प्रत्याशी भूमिहार जाति से हैं। दोनों गठबंधन के प्रत्याशी को अपनी जाति के वोटों के अलावा आधार वोट मिलने की उम्मीद है। इसके लिए गोलबंदी शुरू हो गयी है। दोनों गठबंधन एक दूसरे के वोट बैंक में सेंधमारी की कोशिश में लगे हैं।

दरभंगा

दरभंगा सीट पर महागठबंधन से आरजेडी प्रत्याशी अब्दुल बारी सिद्दीकी का सीधा मुकाबला एनडीए के बीजेपी प्रत्याशी गोपाल जी ठाकुर से होने की उम्मीद है। सिद्दीकी को जहां माई समीकरण पर भरोसा है वहीं बीजेपी प्रत्याशी को राष्ट्रवाद पर भरोसा है। पीएम मोदी, सीएम नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव समेत सभी दलों के सियासी सूरमा यहां प्रचार कर चुके हैं। यही नहीं दोनों उम्मीदवार स्थानीय हैं, इसलिए भी मुकाबला दिलचस्प होगा। सिद्दीकी को अली अशरफ फातमी की बगावत परेशान कर सकती है।

उजियारपुर

 उजियारपुर में रालोसपा एवं भाजपा के बीच मुकाबला तय है। भाजपा ने वहां से वर्तमान सांसद और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय को फिर उम्मीदवार बनाया है। अभी रालोसपा के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा अपनी किस्मत अजमा रहे हैं। दोनों नेताओं की उम्मीद गठबंधन के घटक दलों के आधार मतों पर टिकी है।  यहां दो अध्यक्षों (प्रदेश व राष्ट्रीय) के चुनावी रण में होने के कारण मुकाबला जोरदार होगा। 

समस्तीपुर

समस्तीपुर में लोजपा के सांसद रामचंद्र पासवान और कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ.अशोक राम खुद को सुरक्षित नहीं मान रहे हैं। पिछली बार भी दोनों आमने-सामने थे। दोनों की नजर गठबंधन के वोटों पर है।माना जा रहा है कि इस बार भी समस्तीपुर में नजदीकी मुकाबला देखने को मिलेगा। जीत या हार का अंतर काफी कम मतों से होगा।

Find Us on Facebook

Trending News