राष्ट्रपति चुनाव में बिहार के 241 विधायकों ने की वोटिंग, एक भाजपा विधायक नहीं डाले अपना मत

राष्ट्रपति चुनाव में बिहार के 241 विधायकों ने की वोटिंग, एक भाजपा विधायक नहीं डाले अपना मत

पटना. बिहार में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान खत्म हो गया है। 242 विधानसभा सदस्यों में से 241 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। महागठबंधन के 115 विधायकों ने वोट डाले, इसमें RJD के 79 विधायक, कांग्रेस के 19, माले के 12, सीपीआई के 2, सीपीएम के 2 और एआईएमआईएम के एक विधायक ने वोटिंग की। वहीं एनडीए के 126 विधायकों ने मतदान किया। भाजपा के 77, जदयू के 46 और हम के चार विधायकों ने वोटिंग की। वहीं बीजेपी विधायक सुभाष सिंह अपना वोट नहीं डाल पाये।

राष्ट्रपति चुनाव में संसद के दोनों सदन लोकसभा और राज्यसाभ के सदस्य और सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश के विधानसभा के सदस्य मतदान करते हैं। वहीं विधान परिषद के सदस्य इसमें भाग नहीं लेते हैं। बिहार में 243 विधानसभा सदस्यों की संख्या में से एक विधायक अनंत सिंह की सदस्यता चली गयी है। इससे चुनाव में 242 विधानसभा सदस्य को वोट करना था। चुनाव भाजपा विधायक वोट नहीं कर पाए।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए आज वोटिंग हुई। इसमें कांग्रेस, एनसीपी और सपा के विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। गुजरात में एनसीपी विधायक कांधजल, ओडिशा में कांग्रेस विधायक मुकीम और यूपी में सपा विधायक शिवपाल यादव एवं शहजिल इस्लाम ने पार्टी लाइन से इतर वोटिंग की। इन सभी ने एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के लिए मतदान किया, जबकि इन सभी की पार्टी द्रौपदी के खिलाफ यशवंत सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है।

राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की तरफ से द्रौपदी मुर्मू और विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है। इस चुनाव की गिनती 21 जुलाई को होगी और 25 जुलाई को राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई जाएगी। इस चुनाव में द्रौपदी मुर्मू की जीत तय मानी जा रही है। उनके पास करीब 64 प्रतिशत मत प्रतिशत है, लेकिन चुनाव का रिजल्ट आना अभी बाकी है। इस चुनाव में अंत तक जीएमएम और एआईडीएमके ने भी मुर्मू का ही समर्थन देना का ऐलान किया, जिससे मुर्मू का मत प्रतिशत 52 प्रतिशत से बढ़कर 64 प्रतिशत होने की संभावना जतायी जा रही है।

Find Us on Facebook

Trending News