31 साल पहले भारत सरकार ने दिया जमीन जब्ती का आदेश, अब जाकर हुई कार्रवाई

31 साल पहले भारत सरकार ने दिया जमीन जब्ती का आदेश, अब जाकर हुई कार्रवाई

लखीसराय। लखीसराय जिला की पहली घटना है जो तस्करी अधिनियम के तहत लगभग एक्कीस एकड़ जमीन को जब्त किया। बताया गया कि जिले में  इसके पूर्व तस्करी अधिनियम में ऐसा घटना नही हुई है। जिले के बड़हिया थाना क्षेत्र अंतर्गत जैतपुर में बुधवार को स्वर्गीय    अदिया सिंह के पुत्र स्वर्गीय सरयुग सिंह उर्फ सरयुग पहलवान का सफेमा अधिनियम  तस्करी एक्ट के तहत लगभग एक्कीस एकड़ जमीन पर अंचलाधिकारी राम आगर ठाकुर बीडीओ नीरज कुमार थानाध्यक्ष डीके पाण्डेय ने जमीन पर जाकर पहले ढोल बजाया और जमीन पर बोर्ड लगाकर ज़मीन को जब्त किया। जिससे गांँजा माफिया में हड़कंप मच गया है। 

बताते चलें कि सरयुग पहलवान के खिलाफ 16,3,89 को शफेमा अधिनियम 7 एक एवं 7 तीन के प्रवाधान के अनुसार सम्पति एवं अधिसूचित शिडुल के आलोक में 07,02,2015 को अंचलाधिकारी बड़हिया द्वारा अपर समाहर्ता लखीसराय को पत्र भेजा गया था। 2015 में सम्पति जब्त का प्रक्रिया किया गया था लेकिन सम्पति जब्त नहीं हो सकी थी। 

अब जाकर हुई कार्रवाई

जिसके बाद भारत सरकार के वित्त मंत्रालय,राजस्व विभाग के  16.12. 2020 के द्वारा यह कहा गया कि सफेमा अधिनियम के तहत श्री सरयुग सिंह उर्फ सरयुग पहलवान कि संपत्ति 31.12.2020 तक जब्त कर सूचित किया जाए ताकि उक्त संपत्ति की नीलामी की जा सके। जो आज अंचलाधिकारी, बीडीओ, थानाध्यक्ष द्वारा किया गया और जमीन पर बोर्ड लगायी गई। अधिसूचित शिड्यूल के मुताबिक  लगभग एक्कीस एकड़ जमीन भारत सरकार को हस्तांतरित किया गया है। इसी आलोक में अंचलाधिकारी बड़हिया को पुनः पत्रांक 731 दिनांक 26,11,20 द्वारा वित्त विभाग भारत सरकार के संयुक्त आयुक्त डीएस विष्ट अधतन प्रतिवेदन की मांग पर अंचलाधिकारी राम आगर ठाकुर बीडीओ नीरज कुमार थानाध्यक्ष डीके पाण्डेय मुखिया प्रतिनिधि राकेश कुमार अंचल निरीक्षक पुलिस अवर निरीक्षक संजीव कुमार ज़मीन पर जाकर पहले ढोल बजाया फिर बोर्ड गाड़कर जमीन को जब्त किया।

Find Us on Facebook

Trending News