संसद के मानसून सत्र में पेश हो सकते हैं 32 विधेयक, इन मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी में विपक्ष

संसद के मानसून सत्र में पेश हो सकते हैं 32 विधेयक, इन मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी में विपक्ष

DESK. केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि सरकार ने मंगलवार (19 जुलाई) को श्रीलंका में मौजूदा संकट पर विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के नेतृत्व में एक और सर्वदलीय बैठक बुलाई है। हमने 45 राजनीतिक दलों को आमंत्रित किया था, जिनमें से 36 पार्टियों ने रविवार को सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लिया। 36 नेताओं ने अपने विचार रखे, सुझाव दिए और कुछ मुद्दों पर सरकार से चर्चा करने की मांग की है। सरकार संसद में किसी भी मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है। 

संसद के मानसून सत्र पर केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि संसद के इस सत्र में विभिन्न विभागों से 32 विधेयक पेश किए जाने के संकेत दिए गए हैं। 14 बिल तैयार हैं। हम बिना चर्चा के विधेयकों को पारित नहीं करेंगे। कांग्रेस के जयराम रमेश ने यह मुद्दा उठाया कि पीएम आज बैठक में शामिल नहीं हुए। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि 2014 से पहले पीएम कभी भी सर्वदलीय बैठक में शामिल नहीं हुए थे। उन्होंने पूछा कि मनमोहन सिंह जी कितनी बार सर्वदलीय बैठक में शामिल हुए थे?

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई और हमने कम से कम 13 मुद्दे सरकार के सामने रखे हैं। करीब 20 मुद्दे वहां पर आए हैं। कहा जा रहा है कि 32 बिल हैं जिसमें से सिर्फ 14 बिल तैयार हैं, लेकिन 14 बिल कौन से हैं ये उन्होंने नहीं बताया। खड़गे ने कहा कि चीनी घुसपैठ, विदेश नीति, वन वार्तालाप अधिनियम में बदलाव, जम्मू-कश्मीर और कश्मीरी पंडितों से संबंधित मुद्दों, कांग्रेस नेताओं के खिलाफ हमले सहित मुद्दों पर चर्चा की जानी चाहिए। हमारे सर्वदलीय विपक्षी नेता की बैठक दोपहर 3 बजे होगी, जिसमें उन विषयों पर चर्चा होगी जिन्हें हमें एक साथ प्रस्तुत करने की आवश्यकता है।

कांग्रेस और विपक्ष की ओर से मोदी सरकार को कई मुद्दों पर संसद में घेरने की तैयारी है। इसमें महंगाई, अग्निवीर, अल्पसंख्यक से जुड़े मुद्दों को लेकर संसद में जोरदार हंगामा होने की संभावना है. 


Find Us on Facebook

Trending News