घूसखोरी का मायाजाल, तकरीबन 31 लाख घूस लेते रंगे हाथ पकड़े गए बिहार के 41 सरकारी कर्मी

घूसखोरी का मायाजाल, तकरीबन 31 लाख घूस लेते रंगे हाथ पकड़े गए बिहार के 41 सरकारी कर्मी

PATNA : बिहार में घूसखोरी का आलम यह है कि सिर्फ 2018 में तकरीबन 31 लाख रूपये घूस लेते 35 सरकारी कर्मी पकड़े गए हैं। पकड़े गए कर्मियों में अधिकारी से लेकर चपरासी तक शामिल हैं। निगरानी विभाग ने जो लिस्ट जारी किया है उसमें 4 जनवरी 2018 से लेकर 22 दिसम्बर 2018 तक का जिक्र है।इस दौरान 35 बार की निगरानी की कार्रवाई में 41 सरकारी अधिकारी और कर्मी घूस लेते पकड़े गए हैं।

घूस लेने के मामले में एडीएम ओमप्रकाश अव्व्ल

बेगूसराय के एडीएम ओमप्रकाश प्रसाद सबसे अधिक घूस की रकम के साथ पकड़े गए थे। निगरानी विभाग ने 16 नवम्बर 2018 को 6 लाख रू घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। एडीएम के पास से दूसरे जगह पर रखे 5 लाख 99 हजार रू और भी बरामद किए गए थे। इसके बाद दूसरे नंबर सीएम नीतीश के गृह जिले नालंदा के राजगीर प्रखंड़ का एक अमीन का रहा। अमीन राजाराम सिंह 5 लाख रू घूस लेते पकड़ा गया था।निगरानी विभाग की टीम ने उसे 10 अक्टूवर 2018 को पकड़ा था। उसके पास से 42 हजार रूपये और भी मिले थे।

 बांका के कार्यपालक अभियंता मनोज कुमार चौधरी भी अपने एक सहयोगी के साथ 4 लाख रूपये घूस लेते पकड़े गए। निगरानी की छापेमारी में करीब 4 लाख रूपये और भी मिले थे। 

निगरानी विभाग ने जो जानकारी दी है उसके अनुसार कुल 35 बार छापे की कार्रवाई की गई जिसमें 41 सरकारी सेवक पकड़े गए। घूस लेने के मामले में 9 सरकारी कर्मी ऐसे थे जिन्होंने 1 लाख या उससे अधिक की रकम लेते हुए गिरफ्तार हुए।

Find Us on Facebook

Trending News