शिक्षिका से एक लाख की रिश्वत की मांग की जांच के लिए टीम गठित, डीएम ने दिया 48 घंटे का समय

शिक्षिका से एक लाख की रिश्वत की मांग की जांच के लिए टीम गठित, डीएम ने दिया 48 घंटे का समय

कैमूर। जिले के दुर्गावती प्रखंड के कस्तूरबा के तत्कालीन वार्डन से एक लाख साठ हजार रुपये बकाया बिल और 28 महीने का मानदेय भुगतान के एवज में शिक्षिका से एक लाख रुपये का घूस मांगने का मामला सामने आया है। जिसका ऑडियो वायरल का खबर प्रमुखता से चलाने के बाद कैमूर जिला अधिकारी ने संज्ञान लेते हुए जांच टीम गठित कर दी है। डीएम ने डीडीसी के अध्यक्षता में दो सदस्यीय टीम का किया गठन कर, 48 घंटे के अंदर  जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा है। दो सदस्यीय टीम में डीडीसी कुमार गौरव अध्यक्ष होंगे और डीपीओ स्थापना दयाशंकर सदस्य होंगे। 

क्या है पूरा मामला

शिक्षिका टिंकू सविता कुमारी दुर्गावती के तत्कालीन वार्डन रहते समय कस्तूरबा संचालन के दौरान  एक लाख साठ हजार रुपये का बकाया बिल दिसंबर 2018 में अपने कार्यालय को दिया था। लेकिन 2018 से ही भुगतान के लिए चक्कर लगा रही थी, बिल के साथ 28 माह का वेतन का भुगतान भी बकाया है। जिसका भुगतान नहीं किया जा रहा था। शिक्षिका के मोबाइल पर सर्व शिक्षा अभियान के ही एक कर्मी बड़ा बाबू को सेटल करने के नाम पर रिश्वत मांग रहा था। 

डीएम तक पहुंचा मामला

जानकारी देते हुए कैमूर डीडीसी ने बताया पीड़ित शिक्षिका टिंकू सविता कुमारी द्वारा कैमूर जिला अधिकारी को ऑडियो क्लिप और आवेदन देकर बकाया बिल और मानदेय भुगतान के एवज में एक लाख रुपये का रिश्वत मांगने का आरोप लगाया गया है। जिलाधिकारी ने ऑडियो सुनने के बाद मेरे अध्यक्षता में दो सदस्यीय टीम का गठन किया है, दो दिनों के अंदर वायरल आडियो की सत्यता की जांच कर जिलाधिकारी को रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। जो दोषी होगा उनके ऊपर कार्रवाई होगी ।



Find Us on Facebook

Trending News