बिहार की 16 सीटों पर बिछी राजनीति की नई बिसात, दांव पर मोदी के 5 मंत्रियों की किस्मत

बिहार की 16 सीटों पर बिछी राजनीति की नई बिसात, दांव पर मोदी के 5 मंत्रियों की किस्मत

PATNA : बिहार में लोकसभा चुनाव के छठे और सातवें चरण में 16 लोकसभा सीटों पर मतदान होना है। इसको लेकर नई बिसात बिछ गई है।  इस दौर में मोदी सरकार के 5 मंत्रियों समेत कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर है। जिसमें रविशंकर प्रसाद, राधा मोहन सिंह, अश्विनी चौबे, रामकृपाल यादव जैसे केंद्रीय मंत्री शामिल हैं। इनके संसदीय क्षेत्र में 12 और 19 मई को मतदान होना है।

रविशंकर प्रसाद

 केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। चौथी बार उन्हें पिछले वर्ष राज्यसभा का सदस्य बनाया गया है। भाजपा ने रविशंकर प्रसाद को शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ पटना साहिब से उम्मीदवार बनाया है।

राधामोहन सिंह

 राधामोहन सिंह 2014 लोकसभा चुनाव में बिहार के पूर्वी चंपारण से चुनाव जीते थे। उन्हें भाजपा ने 2014 में कृषि मंत्री बनाया।राधामोहन सिंहपांच बार लोकसभा का चुनाव जीत चुके हैं और छठी बार फिर पूर्वी चंपारण से किस्मत आजमा रहे हैं। राधामोहन सिंह का मुकाबला महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी आकाश सिंह से है।

रामकृपाल यादव

 ग्रामीण विकास मंत्रालय का जिम्मा संभालने वाले रामकृपाल यादव पहली बार 1993 में पटना से लोकसभा का चुनाव जीते थे। इस सीट पर उनकी 1996 और 2004 में भी जीत हुई थी। 2014 में वो पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते। उन्होंने 2014 में पाटिलपुत्र सीट पर मीसा भारती को हराया था।

 आरके सिंह

 पूर्व केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह 2014 में आरा सीट सेलोकसभा चुनाव जीते थे। केंद्र में वह मंत्री भी हैं। इस बार उनके खिलाफ भाकपा (माले) के राजू यादव मैदान में हैं। 

अश्विनी चौबे

 अश्विनी चौबे मोदी सरकार में स्वास्थ्य मंत्रालय में राज्य मंत्री हैं। चौबे ने 2014 का लोकसभा चुनाव बक्सर से लड़ा था और जीत दर्ज की थी। भाजपा ने उन्हें फिर बक्सर से उम्मीदवार बनाया हैं। उनकी टक्कर राजद के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह से है।

Find Us on Facebook

Trending News