गया में विसर्जन के लिए दुखहरणी द्वार से पास कराई गयी 5 मां दुर्गा प्रतिमाएं, रात दो बजे तक मौके पर डटे रहे डीएम और एसएसपी

गया में विसर्जन के लिए दुखहरणी द्वार से पास कराई गयी 5 मां दुर्गा प्रतिमाएं, रात दो बजे तक मौके पर डटे रहे डीएम और एसएसपी

GAYA : नवरात्र के मौके पर पुरानी परंपरा का निर्वहन करते हुए शहर के 5 लाइसेंसी मां दुर्गा की प्रतिमा को दुखहरणी मंदिर द्वार से पास कराया जाता है। इसी क्रम में गया शहर के उत्तरी क्षेत्र के 5 लाइसेंसी प्रतिमा को नवरात्र के विजयदशमी के दिन बुधवार को दुखहरणी द्वार से पास कराया गया। यह सिलसिला बुधवार की देर रात तक दो बजे तक चलता रहा। प्रतिमा दुखहरणी द्वार से होते हुए जामा मस्जिद से गुजरती है। इसे लेकर यहां पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की बंदोबस्ती की गई थी। 


इस दौरान ज़िला पदाधिकारी, गया डॉक्टर त्यागराजन एस एम और वरीय पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर भी यहाँ मौजूद थे। दोनों पदाधिकारियों की मौजूदगी में शांतिपूर्ण तरीके से दुखहरणी मंदिर द्वार से प्रतिमा बारी बारी से पास कराया गया। जिला पदाधिकारी खुद मूर्ति पास कराने को लेकर बारीकी से नजर बनाए रखें। ताकि सामाजिक सद्भाव और शांति बना रहे। जिला पदाधिकारी की मौजूदगी रहने से उनके अधीनस्थ पदाधिकारी भी उत्साहित रहे। 

ऐसे तो दुखहरणी मंदिर द्वार से पास कर जामा मस्जिद के समीप पदाधिकारी मौजूद रहे। लेकिन प्रतिमा पास होने में थोड़ी सी भी विलंब होने पर खुद जिलाधिकारी अपने स्थान से उठकर आम लोगों के बीच चले जाते। उन्हें समझाते और जल्दी-जल्दी प्रतिमा को आगे बढ़ाने का आग्रह कर रहे थे। डीएम के प्रयास को समाज के सभी लोगों ने सराहना की है। जब तक अंतिम प्रतिमा दुखहरणी मंदिर द्वार से पास नहीं हुआ। तब तक जिलाधिकारी वहां पर मौजूद रहे। प्रतिमा पास कराते समय डीएम अपने जगह से उठकर अपने अधीनस्थ पदाधिकारियों की हौसला अफजाई के लिए वहां पहुंच जाते। करीब 4 घंटे की मशक्कत जिला पदाधिकारी के अथक प्रयास के  बाद शांतिपूर्ण तरीके से दुखरनी मंदिर द्वार से मां दुर्गा की 5 प्रतिमाएं पास कराई गई। 

इस पूरे कार्यक्रम में नगर पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार, नगर पुलिस उपाधीक्षक पीएन साहू, सदर अनुमंडल पदाधिकारी इंद्रवीर कुमार, अपर समाहर्ता मनोज कुमार, उप समाहर्ता अमित पटेल, उप समाहर्ता नजारत अभिषेक कुमार के साथ-साथ काफी संख्या में सुरक्षा बल के जवान और सामाजिक कार्यकर्ता एवं मुस्लिम समुदाय के गणमान्य नागरिक भी मौजूद रहे। जानकारी हो कि गया शहर के उत्तरी क्षेत्र के दुख हरणी मंदिर, तुतबाड़ी, नई गोदाम, गोल पत्थर और झीलगंज में स्थापित लाइसेंसी प्रतिमा दुखरनी मंदिर द्वार से पास होती है।

गया से मनोज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News