इसरो के सेवानिवृत वैज्ञानिक से साइबर ठगों ने ठगे 14.50 लाख रूपये, पुलिस ने 5 को किया गिरफ्तार

इसरो के सेवानिवृत वैज्ञानिक से साइबर ठगों ने ठगे 14.50 लाख रूपये, पुलिस ने 5 को किया गिरफ्तार

NAWADA : नवादा जिले के वारिसलीगंज में एक व्यक्ति साइबर ठगों के झांसे में आकर 14.50 लाख रुपये गवां बैठे. जब उन्हें ठगे जाने का एहसास हुआ तब पिछले 30 जुलाई को छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिला अंतर्गत सकरी थाना में संबंधित ठगों के विरुद्ध मामला दर्ज करवाया. 

रविवार को वारिसलीगंज पहुंची छत्तीसगढ़ की पुलिस स्थानीय पुलिस के सहयोग से चकवाय पंचायत के बलबापर तथा मीर बीघा गांव में छापेमारी कर पांच ठगों को गिरफ्तार किया. 

बता दें कि वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के अलग-अलग गांवों के जालसाजों, जिन्होंने छत्तीसगढ़ बिलासपुर इसरो के सेवानिवृत वैज्ञानिक 80 वर्षीय सीएल पटेल को महंगी व लग्जरी स्कॉर्पियो गाड़ी लॉटरी में निकलने का झांसा देकर ठग लिया था. इस कांड में शामिल थाना क्षेत्र के चकवाय बलवापर ग्रामीण संजय कुमार का पुत्र गौतम कुमार, कैलाश महतो का पुत्र संजय कुमार, विजय राम का पुत्र बिरजू कुमार तथा मीरबिघा के बच्चू प्रसाद का पुत्र सुधांशु कुमार सहित नालंदा जिला के बिद थाने के सदनपुर निवासी गणेश कुमार का पुत्र नीरज कुमार को गिरफ्तार किया गया. 

सकरी थाना के एसएचओ रवीश कुमार यादव ने बताया कि पकड़ में आए आरोपितों के पास से 5.23 लाख रुपये नकद, तीन अपाचे मोटरसाइकिल, दो लैपटॉप ,19 मोबाइल सेट, डेढ़ दर्जन से अधिक एटीएम कार्ड, दस अलग-अलग बैंकों का पासबुक, दो मेमोरी कार्ड ,दो दर्जन अलग-अलग प्रदेशों का सिम कार्ड बरामद किया गया. वैज्ञानिक से ठगी करने में अलग-अलग मोबाइल कंपनियों के सिम का उपयोग किया गया था. 

पुलिस ने बताया कि आरोपी और पीड़ित से अलग-अलग मोबाइल नंबर से हो रहे बात को लगातार कई दिनों तक सर्विलांस पर लेकर जांच की जा रही थी. उसी दौरान अलग-अलग बैंक के खातों की जांच में पता चला कि जिस अकाउंट में ठगों द्वारा रुपये मंगाए गए हैं. उसमें 7 जुलाई से 30 जुलाई तक एक करोड़ से अधिक राशि का लेन-देन किया गया है. 

लॉक डाउन के दौरान 5 जून को वारिसलीगंज पुलिस ने चकवाय पंचायत की बाघी गांव से 6 ठगों समेत बड़ी संख्या में 14 मोबाइल , दर्जनों एटीएम कार्ड, प्रिटर, लैपटॉप तथा अपाचे बाइक को जप्त किया था. जबकि 5 जुलाई को यूपी के फैजाबाद पुलिस कोचगांव पंचायत के कन्धा गांव के दो ठगों को गिरफ्तार किया था. हरियाणा तथा दिल्ली पुलिस भी ग्रामीण क्षेत्रो में छापेमारी कर नकद राशि के साथ ठगों को गिरफ्तार कर साथ ले गई है. इसके बावजूद क्षेत्र में ठगों का नेटवर्क और मजबूती से काम कर रहा है. इस धंधे में ज्यादातर 15 से 25 आयु वर्ग के युवा शामिल हैं. 

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News