50 हजार का इनामी मोस्ट वांटेड बिलरिया गिरफ्तार, 2 वर्ष से पुलिस कर रही थी तलाश

50 हजार का इनामी मोस्ट वांटेड बिलरिया गिरफ्तार, 2 वर्ष से पुलिस कर रही थी तलाश

BHAGALPUR : नवगछिया पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस और एसटीएफ की टीम ने नवगछिया पुलिस जिला के कुख्यात 50 हजार के इनामी और बिहार पुलिस की मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल राजकिशोर राय उर्फ बिलरिया गिरफ्तार कर लिया है। 

हत्या, अपहरण व डकैती के दर्जन भर मामले है दर्ज

राजकिशोर राय उर्फ बिलरिया उर्फ झोटहना के नाम से चर्चित रहा यह कुख्यात नवगछिया थाने के पकड़ा गांव का निवासी है। उसके खिलाफ हत्या, अपहरण व डकैती के 10 से अधिक मामले दर्ज हैं। दरअसल बिलरिया गिरोह के बढ़ते उत्पात को देखते हुए पिछले कुछ महीने से एसटीएफ की टीम उसके पीछे लगी थी। 

गुप्त सूचना पर हुई गिरफ्तारी

बताया जा रहा है कि विभिन्न स्रोतों से मिले सुराग पर आईजी (ऑपरेशन) कुंदन कृष्णन ने विशेष टीम को अलर्ट किया। जिसके बाद नवगछिया में हुई घेराबंदी में बिलरिया पकड़ा गया। पुलिस मुख्यालय के मुताबिक बिलरिया अपराधियों के गिरोह का सरगना रहा है। अपराध करने के बाद वह पड़ोसी जिले खगड़िया या मधेपुरा के दुर्गम इलाकों में लोकल क्रिमिनल की मदद से शरण लेता था। बिलरिया गिरोह के जुर्म की सूचना पुलिस को देने में भी इलाके के लोग डरते थे। बताया जाता है कि बिलरिया अपराध की घटनाओं को अंजाम किसी गिरोह में या किसी के सानिध्य में रह कर अपराध की घटना को अंजाम नहीं देता था। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए 50 हजार का इनाम रखा था

विनोद यादव हत्याकांड में भी था नामजद
 
नवगछिया पुलिस जिले के विभिन्न थानों में बिलरिया के विरुद्ध लूट, रंगदारी, हत्या, हत्या के प्रयास जैसे जघन्य वारदातों के 15 से भी अधिक मामले दर्ज हैं। इन दिनों पुलिस की अत्यधिक दबिश होने के कारण बिल रिया नवगछिया से बाहर ही रह रहा था। 

नवगछिया के थानाध्यक्ष लालबहादुर सिंह ने बताया कि बिलरिया का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News