पटना पुलिस के लेखा शाखा से 65 लाख गबन मामलें में वरीय अधिकारी चुप क्यों ?

पटना पुलिस के लेखा शाखा से 65 लाख गबन मामलें में वरीय अधिकारी चुप क्यों ?

Patna: पटना पुलिस के लेखा शाखा से 65 लाख घोटाला मामले में आखिर पटना और बिहार पुलिस के वरीय अधिकारी की चुप्पी यह दर्शाती है कि पुलिस इस मामले में कहीं ना कहीं घिर रही है।

दरअसल मामला पटना पुलिस के लेखा शाखा से जुड़ा है. 65 लाख रुपया गबन के मामला प्रकाश में आने के बाद तत्कालीन आईजी नैयर हसनैन खान ने डीआईजी को जांच कराने का आदेश दिया था। लिहाजा डीआईजी राजेश कुमार ने इस पूरे मामले में एसएसपी पटना गरिमा मलिक से मामले की जांच कराने का आदेश जारी किया गया था। डीआईजी ने यह कहा था कि लेखा शाखा और पटना पुलिस का जो अकाउंट है उनका ऑडिट भी करा कर मामले की जांच कर रिपोर्ट समर्पित किया जाए. 

आपको बता दें कि लगभग महीना बीतने को है लेकिन अभी तक इस मामले की जांच पूर्ण नहीं हो पाई है। मामला पुलिस विभाग से जुड़ा है और जांच भी विभाग के अधिकारियों को ही करना है। पुलिस विभाग के वरीय अधिकारियों से इस मामले पर जब भी बात किया जाता है तब उनका एक ही जवाब होता है जांच चल रहा है. सवाल यह उठता है पूर्व में पुलिस विभाग के 6 निचले पुलिसकर्मियों पर तो गाज गिर गई किंतु जब अधिकारियों की भूमिका संदेहास्पद हो तब मामलें जांच में देर किस बात की है।

क्यास लगना आरम्भ हो गया है कि कहीं इस मामले की लीपापोती तो नहीं किया जा रहा है। अब देखना यह होगा आखिर कब इस मामले की जांच पूर्ण हो पाती है. मामले की जांच के नाम पर बिहार पुलिस के सभी आला अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News