65 साल के लव गुरु मटुकनाथ का दिल फिर हुआ आशिकाना, बोले- मेरे ब्याह के चरचे हर जुबान पर

 65 साल के लव गुरु मटुकनाथ का दिल फिर हुआ आशिकाना, बोले- मेरे ब्याह के चरचे हर जुबान पर

PATNA :  लव गुरु मटुकनाथ रिटायर होने के बाद फिर शादी करने की तैयारी में हैं। कॉलेज में प्रोफेसर रहे मटुकनाथ ने अपनी भावी वधू को बताया है कि उन्हें एक लाख रुपये मासिक पेंशन मिलने वाला है। जिस उम्र में लोग भगवत भजन करते हैं उस उम्र में  प्रो. मटुकनाथ दूसरी शादी की तैयारी में हैं। लड़की की तलाश में मटुकनाथ ने एक फेसबुक पोस्ट लिखा है।

इच्छुक कन्या फोन से संपर्क करे

मटुकनाथ ने लिखा है- इच्छुक कन्या फोन से संपर्क करें । बातचीत के बाद अगर लगे कि इससे मिला जा सकता है तो मिलें । मिलने के बाद अगर बार-बार मिलने की चाह उठे, तो बार-बार मिलें। कभी ऐसा लग जाय कि यह लड़का ही मेरी मंजिल है, यही वह शख्स है, जिसे जन्मों से खोज रही थी तो मिलें। इसके साथ कुछ पलों का जीना ही जीने को अर्थ प्रदान कर रहा है, तो समझिए कि लड़का-लड़की की कुंडली मिल गई । कुंडली मिली हुई कन्या का निश्चय दृढ़ हो जाता है । उसे कोई डिगा नहीं सकता ।

 65 का दूल्हा लेकिन देखने में 50 -55 का

मटुकनाथ ने लिखा है- लड़का भले 65 का हो गया हो, लेकिन देखने में 50-55 से अधिक का नहीं लगता लड़के के पास संपत्ति कुछ करोड़ में है । पहली पत्नी को करोड़ों की संपत्ति देने के बाद भी जो बची है, कम नहीं है । अपने बारे में मटुकनाथ ने लिखा है- लड़के को कम से कम एक लाख रुपये मासिक पेंशन तो मिलना ही मिलना है । उसमें पहली पत्नी को एक तिहाई देने के बाद जो राशि रह जायेगी, काम चलाने के लिए बहुत होगी । लड़का भला है । निर्मल हृदय का है । प्रोफेसर और हेड रह चुका है । बदनामी के बाद भी समाज में बड़ी प्रतिष्ठा है । कन्या की उम्र, जाति, संप्रदाय, देश आदि किसी प्रकार का बंधन नहीं है । दुनिया की कोई भी   विवाहेच्छु कन्या आवेदिका हो सकती है ।

Find Us on Facebook

Trending News