7वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवसः पूर्व एमएलसी ने गिनाए योगाभ्यास के फायदे, प्रधानमंत्री द्वारा लॉन्च किए गए ऐप को बताया प्रभावशाली

7वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवसः पूर्व एमएलसी ने गिनाए योगाभ्यास के फायदे, प्रधानमंत्री द्वारा लॉन्च किए गए ऐप को बताया प्रभावशाली

PATNA: 21 जून को विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के तौर पर पहचान मिली है। योग को विश्व में पहचान को दिलाने में प्रधानमंत्री का अहम योगदान है। संयुक्त राष्ट्र महासभा सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 के सितंबर महीने में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था। इसका 177 देशों ने समर्थन किया था। संयुक्त राष्ट्र महासंघ में 193 देश है, जिसमें से 177 देशों ने विश्व योग दिवस मनाने का समर्थन भारत के प्रस्ताव पर किया था। जिसके बाद से ही साल 2015 से लगातार विश्व भर में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाने लगा। हालांकि इस साल कोरोना की विपरीत परिस्थितियों में लोगों ने घरों में ही योग करने को प्राथमिकता दी। 

इसी मौके पर पूर्व एमएलसी कृष्ण कुमार सिंह ने अपने आवास में योगाभ्यास किया और लोगों के बीच निरंतर योग करने का संदेश दिया। उन्होनें बताया कि आज के इस भागते वक्त में से कुछ समय लोगों को खुद क लिए निकालना चाहिए और योग क्रियाओं को अपनी जीवनशैली में शुमार करना चाहिए। निरंतर योगाभ्यास करने से ना सिर्फ शरीर स्वस्थ रहता है, बल्कि मन भी हल्का और दिमाग शांत रहता है। योग मनुष्य के शरीर, मन और भावना को स्थिर और नियंत्रित भी करता है। योग न सिर्फ मनुष्य के मस्तिष्क और शरीर की एकता को संगठित करता है बल्कि यह मनुष्य के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने का काम करता है। योग से मनुष्य का मन शांत रहता है और उसे अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है। 

वहीं विश्व योग दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने M-YOGA ऐप लॉन्च किया। इसपर योग संबंधी सभी जानकारियां उपलब्ध रहेंगी औऱ इस ऐप की सहायता से लोग घर बैठे चरणबद्ध तरीके से योग सीख सकते हैं। M-YOGA ऐप को लेकर पूर्व एमएलसी कृष्ण कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री की सराहना की औऱ कहा कि इस ऐप की मदद से हर कोई आसान योगासन सीख कर इसे रोजाना कर सकते हैं। इससे तन-मन स्वस्थ रहेगा औऱ कोरोनाकाल में श्वसन संबंधी बीमारियां भी दूर रहेंगी।

Find Us on Facebook

Trending News