बिहार में छठे चरण के 8 सीटों पर मतदान की तैयारियां पूरी, करीब 1 करोड़ 38 लाख मतदाता करेंगे 127 प्रत्याशियों के किस्मत का फैसला

बिहार में छठे चरण के 8 सीटों पर मतदान की तैयारियां पूरी, करीब 1 करोड़ 38 लाख मतदाता करेंगे 127 प्रत्याशियों के किस्मत का फैसला

PATNA : लोकसभा चुनाव के छठे चरण में बिहार की 8 सीटों पर मतदान को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। बिहार के संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी प्रवीण कुमार गुप्ता ने प्रेस ब्रीफिंग के दौरान बताया कि 12 मई को होने वाले छठे चरण वाले संसदीय क्षेत्रों में मतदान की तैयारियां पूरी हो चुकी है। छठे चरण के संसदीय क्षेत्रों में कुल 127 प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे।

 पूर्वी चंपारण एवं वैशाली में सबसे ज्यादा 22-22 प्रत्याशी तथा पश्चिम चंपारण से सबसे कम 09 प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे। 12 मई को 1,38,02576 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे जिसमें 73,05983 पुरूष मतदाता एवं 64,96117 महिला मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। 

उन्होंने कहा कि छठे चरण वाले संसदीय क्षेत्रों के लिए मतदान केंद्रों की कुल संख्या 13973 है। इस प्रकार कंट्रोल यूनिट 13973, VVPAT 13973 एवं बैलेट यूनिट 20844 की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने जानकारी दी कि इस चरण में क्षेत्रवार तथा मतदातावार गोपालगंज संसदीय क्षेत्र सबसे बड़ा संसदीय क्षेत्र है, वहीं पश्चिम चंपारण मतदातावार सबसे छोटा संसदीय क्षेत्र है। विदित हो कि छठे चरण वाले संसदीय क्षेत्रों (वाल्मीकिनगर, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सीवान एवं महाराजगंज) में मतदान की तिथि-12.05.2019 नियत है। 

छठे चरण वाले संसदीय क्षेत्रों में चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा क्षेत्रवार समय भी निर्धारित किया गया है जहां पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, गोपालगंज, सीवान एवं गोपालगंज लोकसभा के संपूर्ण क्षेत्र में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होगा लेकिन वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र के वाल्मीकिनगर एवं रामनगर विधानसभा क्षेत्र में तथा वैशाली लोकसभा क्षेत्र के मीनापुर, पारू और साहेबगंज विधानसभा क्षेत्रों में सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान संपन्न होगा। इसके अतिरिक्त वाल्मीकिनगर एवं वैशाली के अन्य विधानसभा क्षेत्रों में सामान्य समयानुसार सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान संपन्न होगा।

मतदान के दौरान विधि व्यवस्था को लेकर गुप्ता ने महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि एरिया डोमिनेशन किया जा चुका है। सुरक्षा बल एवं अर्द्ध सैनिक बल की पूर्व में तैनाती भी कर दी गयी है तथा अंतर्राज्यीय सीमा को भी सील कर दिया गया है। इन सीमाओं से हर आने-जाने वालों पर नजर रखी जा रही है एवं उनकी जांच भी की जा रही है ताकि 12 मई को स्वच्छ एवं निष्पक्ष मतदान हो सके।

Find Us on Facebook

Trending News