कैदी की मौत पर जेल प्रशासन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज, घटना की गुत्थी सुलझाना होगी बड़ी चुनौती

कैदी की मौत पर जेल प्रशासन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज, घटना की गुत्थी सुलझाना होगी बड़ी चुनौती

NAWADA : नवादा मंडलकारा के बंदी गुड्डू कुमार की मौत के मामले में नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। मृतक के चाचा रजौली थाना क्षेत्र के सोहद गांव निवासी कपिलदेव सिंह ने जेल प्रशासन पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जेल प्रशासन द्वारा गुड्डू जिला के साथ मारपीट की गई है। जिससे उसकी मौत हो गई। उन्होंने पुलिस की को बताया कि सोमवार की सुबह में जिला स्थानीय चौकीदर से जानकारी मिली कि जेल में बंद गुडू की मौत हो गई। जिसके बाद वे सदर अस्पताल पहुंचे तो देखा कि मृतक के शरीर पर तक पिटाई के गंभीर निशान हैं हाथ - पैर को रस्सी से बांधने के भी निशान हैं | कान से खून बह रहा है।जिससे साफ होता है कि जेल के अंदर बेरहमी से उसके साथ मारपीट की गई है। फलस्वरूप उसकी मौत हो गई । इधर, नगर थाना की पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान में जुट गई है।हरेक बिंदुओं पर गहन जांच की जा रही है। अब देखना दिलचस्प होगा कि पुलिस की जांच कब तक नतीजे पर पहुंचती है। मृत्यु के कारणों का रहस्य कब उजागर होता है। पुलिस हत्यारे तक कैसे पहुंचती है। लोगों की निगाहें होंगी जिला प्रशासन , कारा विभाग की उच्चस्तरीय टीम के अलावा पुलिस की जांच पर टिक गई है। इधर , लोग जिला प्रशासन और पटना से आई उच्चस्तरीय टीम की जांच रिपोर्ट पर नजरें गड़ाए हैं। 

मौत की दहलीज तक पहुंचाया

बंदी गुड्डू की मौत को लेकर तरह - तरह की चर्चाओं का दौर जारी है।कहा जा रहा है कि शराब की लत ने उसे मौत के दहलीज तक पहुंचा दिया।अधिकारियों के बीच चर्चा है कि वह शराब का आदी था। पहले तो वह शराब के कारण ही गिरफ्तार हुआ। अब शराब के कारण ही उसकी जान गई। जेल जाने के बाद उसे शराब पीने के लिए नहीं मिल रहा था। लिहाजा तीन दिनों से वह काफी हो - हल्ला कर रहा था।जिससे खार खाए जेल अधिकारियों व कर्मियों ने उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी।


जेल अधिकारी पर पर गिर सकता है गाज

गिरनी बिल्कुल तय बंदी गुड्डू की मौत के मामले में जेल अधिकारियों पर गाज गिरना तय माना जा रहा है।प्रशासनिक हलकों में चर्चा है कि जेल अधिकारियों से स्पष्टीकरण के बाद निलंबन तक की कार्रवाई की जा सकती है।उम्मीद जताई जा रही है कि अगले एक - दो दिनों में जिम्मेवार अधिकारियों पर कार्रवाई की जा सकती है।

मारपीट का वीडियो वायरल

इस बीच इंटरनेट मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें जेल पुलिस सदर अस्पताल में इलाजरत एक बंदी को पीटती नजर आ रही है। सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती बंदी को तीन पुलिस कर्मी मिलकर पिटाई करते नजर आ रहे हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News