एक खौफनाक कत्ल, रांची के दामन पर कंलक बन गया, सिर कटी लाश, अब मांगे इंसाफ....

एक खौफनाक कत्ल, रांची के दामन पर कंलक बन गया, सिर कटी लाश, अब मांगे इंसाफ....

डेस्क...  रांची में मिली सिर कटी लाश कई सवाल पूछती है। यह सवाल पूछती है कि क्या बेटी होना गुनाह है? क्या धरती पर बेटी को दोहरी जिंदगी नसीब है? क्या बेटी पर किए गए जुल्मों सितम इंसाफ के काबिल नहीं है? यह सारे तीखे सवाल इसलिए, क्योंकि बेटी की निर्मम हत्या कर दी जाती है। बदन को नोच लिया जाता है। कातिल सिर तक अपने साथ लेकर चला जाता है और हमारा सिस्टम कुछ नहीं कर पाता है। सिर कटी लाश इंसाफ मांग रही है। 

दशक के पहले रविवार को रांची के जंगल में खौफनाक मंजर पसरा रहा। जंगल की खामोशी में लाडो की चीख सन में पड़ती रही। अभी तो उसके सामने उम्र का पूरा आकाश बाकी था, लेकिन वह हैवानों की बदनियती का शिकार हो गई, फिर उसके साथ क्या कुछ नहीं हुआ। या यूं कहें क्या-क्या हुआ किसी को नहीं मालूम। मालूम तो तब पड़ा जब ओरमांझी के जंगल से युवती का शव बरामद हुआ। शव पर कपड़े नहीं थे।  धर पर सिर नहीं था, गुप्तांग काट दिए गए थे। इतनी खौफनाक मौत कोई दरिंदा ही दे सकता है।

रांची के जंगल में एक शेर का ट्रांसफर हुआ 20 वर्षीय युवती का मेला था उसके बाद से लगातार पुलिस के द्वारा सर्च अभियान जंगल में चलाया जा रहा है ताकि सर गया है उसका पता लग सके और युवती का शव है उसका पूरा पता चल सके हैं आखिर किस का समय कहां की होती थी और किस तरह से हत्या हुई है और उसमें कौन शामिल है तमाम बिंदुओं पर पुलिस जांच कर रही है। पुलिस अब सिर कटे सबकी सिर की तलाश में सर्च अभियान चला रही है। सैकड़ों की संख्या पुलिस के जवान, एफएसएल और डॉग स्कावॉयड की टीम सिर तलाशती रही। 

 चेक डैम में गोताखोर घंटों खोजबीन करता रहा। इसमें भी पुलिस के द्वारा सिर को तलाशी जा रही है, कि अपराधी कहीं पानी में तो सिर को नहीं फेंक दिए। इसके लिए चेक डेम के कई गेट खोल दिए। ताकि पानी जल्द से जल्द निकले ताकि गोताखोरों की मदद से सिर को तलाशा जा सके। युवती का सिर्फ सिर ही गायब नहीं, उसकी पहचान भी गायब है। बिना सिर के युवती को कोई पहचान नहीं पा रहा है। 

वहीं, पुलिस के लिए शव का शिनाख्त करना मुश्किल हो गया है। पुलिस पदाधिकारी पता कर रहे हैं और जो लिस्ट मिली है उस आधार पर परिजनों से बात की जा रही है, ताकि शव की पहचान हो सके। उस अपराधी को भी हम पकड़ेंगे, जिन्होंने ये हिमकात की है। 

पुलिस शव की शिनाख्त करने में जुटी है, सिर तलाश रही है।  वहीं, दूसरी ओर रांची के किशोरगंज चौक पर सीएम हेमंत सोरेन को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। भीड़ और हंगामे के बीच कार का रूट डायवर्ट किया गया और बड़ा तालाब होते हुए सीएम आवास पहुंचे। रांची से महज कुछ किलोमीटर दूर ऐसी हत्या के हुई है जो सब समाज के लिए शर्मनाक है। बेटियों को भयभीत करती है। 

Find Us on Facebook

Trending News