चिराग की झोपड़ी में लगी आग तो मच गई भगदड़! एक सीट पर सिमटी LJP का दावा- ऐसे में जेडीयू तो लोजपा से भी नहीं लड़ पायेगी

चिराग की झोपड़ी में लगी आग तो मच गई भगदड़! एक सीट पर सिमटी LJP का दावा- ऐसे में जेडीयू तो लोजपा से भी नहीं लड़ पायेगी

PATNA: बिहार चुनाव के बाद लोजपा की झोपड़ी में आग लगी है। अध्यक्ष चिराग पासवान की कार्यशैली से अधिकांश नेता परोक्ष-अपरोक्ष रूप से नाराज चल रहे हैं। बिहार विधानसभा चुनाव में फेल हो चुके चिराग की पार्टी लोजपा में भगदड़ की स्थिति है। चिराग की कार्यशैली से नाराज लोजपा के 200 से अधिक नेता और कार्यकर्ता एक साथ पार्टी छोड़कर जेडीयू का दामन थाम लिया है। वरिष्ठ नेता रामेश्वर चौरसिया ने भी लोजपा से इस्तीफा दे दिया है। लोजपा में मची भगदड़ के बाद चिराग पासवान बैकफुट पर हैं।झटका मिलने के अगले दिन चिराग पासवान की पार्टी ने जवाब दिया है। इस विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद लोजपा ने जेडीयू पर हमला बोला है। 

एक सीट पर सिमटी लोजपा ने जेडीयू को दिया चैलेंज

लोजपा के अंदर मची भगदड़ के बाद पार्टी की तरफ से सफाई आई है। पार्टी नेता राजू तिवारी ने कहा है कि जेडीयू की तरफ से जो सूची जारी की गई है उसमें फर्जीवाड़ा है।उनमें से अधिकांश नेताओं को वे लोग जानते भी नहीं। लोजपा नेता ने आगे कहा कि ऐसे में जेडीयू अकेले दम पर लोजपा से भी लड़ने लायक नहीं बन पाएगी। वैसे चिराग पासवान के लाख प्रयास के बाद भी लोजपा  संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और गोविंदगंज से विधायक रहे राजू तिवारी अपनी सीट नहीं बचा सके थे और हार का सामना करना पड़ा था। वैसे इस बार के विस चुनाव में चिराग पासवान तो अपने भाई की सीट भी नहीं जितवा सके थे।लोजपा महज एक सीट पर सिमट गई है।  अब राजू तिवारी ने नीतीश कुमार को पत्र लिखा है और कहा है कि जेडीयू में शामिल हुए लोगों की सूची की जांच करायें .उन्होंने कहा कि आंखों में धूल झोंककर जेडीयू को फर्जी तरीके से मज़बूत दिखाया जा रहा है.

टिकट बेंचने में अभी सालों है नई फौज तैयार करो

जेडीयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने चिराग पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट किया.....कितने आदमी थे..? सरदार - 208 ......वोटकटवा - टिकट बेचने में अभी सालों है,नयी फौज तैयार करो। सारांश - लालटेन जलाने के चक्कर में झोपड़ी जल गयी। 

लोजपा में मची है भगदड़

जेडीयू प्रदेश कार्यालय में गुरूवार को आयोजित मिलन समारोह में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने सभी नेताओं को दल में शामिल कराया। लोजपा के जिन नेताओं ने जेडीयू का दामन थामा था उसमें से कई तो पार्टी की स्थापना काल से ही लोजपा के साथ जुड़े थे। रामविलास पासवान के निधन के बाद चिराग पासवान जिस तरह से पार्टी का संचालन कर रहे हैं उससे नेताओं में भारी नाराजगी है। इसके बाद लोजपा के नेता अपने आप को पार्टी से अलग कर रहे।जेडीयू का दामन थामने के बाद नेताओं ने सीधे चिराग पासवान पर गंभीर आरोप लगाए थे। 

200 से अधिक नेता लोजपा छोड़ कर जेडीयू का थामा दामन

जेडीयू के प्रदेश कार्यालय में पूर्व प्रदेश महासचिव केशव सिंह,प्रदेश महसाचिव रहे दीनानाथ क्रांति,अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पारसनाथ गुप्ता समेत 131 नेता जेडीयू में शामिल हुए। इसके अलावे हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र के 77 नेता कार्यकर्ता भी आज लोजपा को बाय-बाय कह जेडीयू का दामन थाम लिया।


Find Us on Facebook

Trending News