बिहार में एक सरकारी कर्मी 30 सालों तक एक साथ 3 विभागों में करता रहा नौकरी...तीनों विभाग से लेता रहा वेतन और पाता रहा प्रोमोशन

बिहार में एक सरकारी कर्मी 30 सालों तक  एक साथ 3 विभागों में करता रहा नौकरी...तीनों विभाग से लेता रहा वेतन और पाता रहा प्रोमोशन

PATNA : बिहार में एक सरकारी कर्मी तीन विभागों में एक साथ नौकरी करता रहा। तीनों विभाग से हर महीने वेतन उठाता रहा और समय-समय पर प्रमोशन पाता रहा।वैसे तो सुनने में इस बात पर भरोसा नहीं हो रहा, लेकिन यह सच है। बता दें कि सुरेश राम 3 जिलों के 2 विभागों के 3 पदों पर एक साथ नौकरी कर रहा। वह तीनों जगहों से हर माह वेतन भी उठाता रहा।

CMFS प्रणाली से वेतन भुगतान में फंस गया

सीएमएफएस सिस्टम से वेतन देने की नई व्यवस्था ने उसके इस कारनामे का खुलासा कर दिया है। जहां-जहां नौकरी की वहां-वहां उस पर एफ आई आर दर्ज हुई है। अब वह फरार हो गया है।

जानकारी के अनुसार सुरेश किशनगंज सुपौल और बांका में एक साथ नौकरी करता रहा। किशनगंज के भवन निर्माण विभाग कार्यालय में सहायक अभियंता रहा सुपौल में जल संसाधन विभाग के पूर्वी तटबंध भीम नगर में कार्यरत रहा, जल संसाधन विभाग में अवर प्रमंडल बेलहर का सहायक अभियंता रहा।यह बात खुलने पर राज्य सरकार के उप सचिव चंद्रशेखर प्रसाद जी ने उस पर किशनगंज थाने में एफ आई आर दर्ज करने का आदेश दिया है। एफ आई आर दर्ज होने के बाद से फरार हो गया है। जांच में यह बात सामने आई है कि तीनों जगह पर सुरेश राम का नाम उसकी जन्मतिथि उसके पिता का नाम ऊंचाई शरीर की पहचान स्थाई पता एक समान पाया गया। 

सीएसीएमएस प्रणाली के तहत वेतन भुगतान की प्रक्रिया में सुरेश राम नाम के तीन व्यक्ति सहायक अभियंता के रूप में कार्यरत दिखे। जब मामले की गहराई से जांच हुई तो पता चला कि नटवरलाल के रूप में एक ही सुरेश राम नाम का शख्स एक दो जगह नहीं बल्कि तीन जगह सरकारी नौकरी कर रहा है और तीनों जगह से मोटी तनख्वाह भी ले रहा है।मामला संज्ञान में आने के बाद सरकार ने सुरेश को सभी प्रमाण पत्र लेकर 22 जुलाई को पटना मुख्यालय में तलब किया। वह मुख्यालय गया तो जरूर लेकिन मूल प्रमाण पत्र लेकर नहीं आया, फिर उसके बाद गायब हो गया। उसके बाद उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News