बिहार विधान परिषद् में उठा नियोजित शिक्षकों पर बल प्रयोग का मामला, सत्ता पक्ष के सदस्य ने दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की

बिहार विधान परिषद् में उठा नियोजित शिक्षकों पर बल प्रयोग का मामला, सत्ता पक्ष के सदस्य ने दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की

PATNA : बिहार के नियोजित शिक्षको पर पिछले दिनो हुई लाठी चार्ज और आज एकबार फिर पुलिस द्वारा बल प्रयोग किये जाने का मामला आज बिहार विधान मंडल की कार्रवाई तक पहुंच गया। 

इस मामले को लेकर बिहार विधान परिषद् में सत्ता पक्ष द्वारा ही सवाल उठाये गये। जदयू सदस्य दिलीप, बीजेपी के नवल किशोर यादव और राजद के रामचंद्र पूर्वे ने इस मामले को उठाते कहा कि शिक्षको पर बल प्रयोग की जितनी निंदा की जाये वह कम होगी। 

नेताओं ने दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई किये जाने और सरकार को शिक्षकों के साथ बातचीत किये जाने की मांग की।  

बता दे कि बिहार के नियोजित शिक्षकों के संघ ने आज बिहार विधानसभा घेराव कर रहे  है। विधासभा घेराव के इस कार्यक्रम शिक्षकों के कई संगठन शामिल है। प्रदेश के कोने-कोने  बड़ी संख्या में प्राइमरी, मीडिल स्कूल के शिक्षट पटना पहुंचे हैं।

विधान सभा का घेराव करने जा रहे नियोजित शिक्षकों और पुलिस के बीच जबरदस्त झड़प हुई है। विधान सभा की ओर आगे बढ़ने से पुलिस ने जब शिक्षकों को रोका तो वे गेट तोड़ने का प्रयास करने लगे। जिसके बाद आंदोलनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को वाटर कैनन का प्रयोग करना पड़ा है। 

वहीं पिछले दिनों भी शिक्षकों के प्रदर्शन के दौरान पुलिस की इनके साथ झड़प हुई थी। उस दौरान पुलिस ने उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर पीटा था। 

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News