ठगी का नया स्पॉट बिहटा! 'यूथ होम्स' के बाद 'सफॉयर सिटी' का नाम, RERA ने बिना निबंधन प्लॉट बिक्री में यूथ होम्स डेवलपर्स पर जारी रखा है प्रतिबंध, अब सफॉयर सिटी का नंबर ?

ठगी का नया स्पॉट बिहटा! 'यूथ होम्स' के बाद 'सफॉयर सिटी' का नाम, RERA ने बिना निबंधन प्लॉट बिक्री में यूथ होम्स डेवलपर्स पर जारी रखा है प्रतिबंध, अब सफॉयर सिटी का नंबर ?

PATNA: पटना के बिहटा इलाके में जमीन-फ्लॉट के नाम पर बड़े स्तर पर गोरखधंधा किया जा रहा है। फ्रॉड बिल्डर ग्राहकों के खून-पसीने की कमाई का करोड़ों रू ठगने को लेकर तरह-तरह के जुगत लगा रहे। हालांकि रेरा ने अब तक कई बिल्डरों पर कार्रवाई भी की है। ग्रेटर पटना इलाके में सस्ते दर पर प्लॉट-फ्लैट का झांसा देकर बिल्डर ग्राहकों को ठगने से बाज नहीं आ रहे। बिहटा इलाके में कई ऐसी कंपनियां है जो बिना रेरा निबंधन के ही शहर बसा रही है और सोसाईटी के लिए फ्लॉट की बिक्री कर रही है। रेरा ने बिहटा में ही बिना निबंधन के प्लॉट बिक्री कर रहे यूथ होम्स डेवलपर्स पर भी रेरा ने कार्रवाई की थी। बिना निबंधन के ग्राहकों से प्लॉट बिक्री के नाम पर पैसा लेने वाले यूथ होम्स डेवलपर्स  पर रेरा ने स्वतः संज्ञान लेते हुए प्रचार-प्रसार से लेकर बुकिंग तक पर रोक लगा दी। साथ ही फ्लैट-प्लॉट के निबंधन पर भी रोक लगा दी गई है। वह रोक अब तक जारी है। अब बिहटा में ही एक और बिल्डर का कारनामा सामने आया है। सोसाईटी बसा रहे एक ऐसी ही कंपनी है सफॉयर सिटी। यह कंपनी बिना रेरा निबंधन के ही दीपावली के मौके पर ग्राहकों को लुभाने के लिए जमकर प्रचार कर रही है। मकसद है ग्राहकों को झांसा देकर प्लॉट देने के नाम पर पैसा लेना।

यूथ होम्स के बाद सफॉयर सिटी 


दरअसल, बिहटा इलाके में इन दिनों काफी संख्या में अपार्टमेंट बन रहे और आवासीय जमीन की खरीद-बिक्री हो रही है। उस इलाके में कुकुरमुत्ते की तरह उगी कंपनियां जमीन की खरीद-बिक्री और सिटी बसाने में जुटी हैं। दशहरा-दीपावली के अवसर पर प्लॉट बिक्री को लेकर ऐसी कंपनियां प्रचार-प्रसार तेज कर देती हैं। सफॉयर सिटी भी दीपावली को लेकर खूब प्रचार-प्रसार कर रही है। अपने फेसबुक पेज पर ग्राहकों के लुभाने वाले प्रचार किये गये हैं। फेसबुक पर ऐड देकर प्रायोजित प्रचार सामाग्री को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। कंपनी ने अपने प्रचार में सस्ते ईएमआई पर प्लॉट देने का वादा किया है। हालांकि अपने प्रचार सामाग्री पर कंपनी ने रेरा निबंधन का उल्लेख नहीं किया है। फेसबुक पेज पर सफॉयर सिटी ने एक फोन नंबर दिया है जिस पर कोई भी व्यक्ति फ्लॉट खरीदने के संबंध में कॉल कर जानकारी ले सकता है। 

रेरा से निबंधन मिला नहीं और शुरू कर दी प्लॉट की बिक्री

रेरा का स्पष्ट आदेश है कि बिना निबंधन मिले सिटी बसाने को लेकर प्लॉट की बिक्री नहीं की जा सकती। प्रचार-प्रसार करने से पहले रेरा का निबंधन होना जरूरी है। हमने भी सफॉयर सिटी द्वारा जारी किये गये नंबर पर फोन किया। जवाब मिला कि बिहटा से 2 किमी पहले से मनेर की तरफ जाने वाली सड़क पर 10-12 बीघे में सफॉयर सिटी बसाई जा रही है। आपको अगर प्लॉट खरीदना है तो पटना स्थित ऑफिस पहुंचे। ऑफिस से पूरी जानकारी मिलेगी और प्लॉट विजिट भी कराया जा सकता है। हमने सफॉयर सिटी की तरफ से जानकारी दे रहीं महिला से पूछा-क्या यह प्रोजेक्ट रेरा से निबंधित है? जवाब मिला- नहीं लेकिन रेरा में निबंधन के लिए आवेदन दिया गया है, वो नंबर है। न्यूज4नेशन ने सवाल किया कि जब आपका प्रोजेक्ट रेरा से निबंधित नहीं है तो फिर आप प्रोजेक्ट का प्रचार-प्रसार कैसे कर रहे? जवाब मिला कि जब आवेदन किया हुआ है तो रजिस्ट्रेशन हो ही जायेगा? हमने पूछा- अगर आपका आवेदन खारिज हुआ और ग्राहकों का पैसा फंसा तब फिर क्या होगा.....इसके बाद सफॉयर कंपनी के प्रतिनिधि के पास कोई जवाब नहीं था। 

यूथ होम्स डेवलपर्स कंपनी पर रोक जारी

बिहटा में प्लॉट की बिक्री में लगी यूथ होम्स डेवलपर्स पर अपने निर्णय में रेरा ने कोई बदलाव नहीं किया है। यानी यूथ होम्स डेवलपर्स का बिहटा का प्रोजेक्ट न्यू यार्क हेमलेट पर प्रतिबंध जारी है। रेरा ने इस कंपनी के निदेशकों का खाता फ्रीज करने के साथ-साथ प्रोजेक्ट बिक्री पर रोक जारी रखा है। ग्राहक पूरी तरह से सचेत रहें और बिल्डर के झांसे में न आयें वरना पैसा डूब सकता है। रोक के 6 महीने हो गये फिर भी कंपनी ने रेरा के समक्ष पूर्ण कागजात प्रस्तुत नहीं कर सका। 



Find Us on Facebook

Trending News