पटना के एसपी रीडर रिश्वत काण्ड में नया मोड़,तत्कालीन सिटी एसपी निगरानी जांच के घेरे में

पटना के एसपी रीडर रिश्वत काण्ड में नया मोड़,तत्कालीन सिटी एसपी निगरानी जांच के घेरे में

PATNA : पटना पूर्वी के तत्कालीन सिटी एसपी राजेंद्र सिंह भील के कार्यालय का रीडर रहे अजय कुमार रिश्वत कांड मामले में नया मोड़ आ गया है।  इस मामले में तत्कालीन पटना पूर्वी सिटी एसपी राजेन्द्र सिंह भील भी निगरानी जांच के घेरे में आ गए है। 

निगरानी की वकील आनन्दी सिंह ने बताया कि  पटना पूर्वी के तत्कालीन सिटी एसपी राजेंद्र सिंह भील के कार्यालय का रीडर रहे अजय कुमार के खिलाफ निगरानी की अदालत में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7a में आरोप पत्र समर्पित किया गया है। अनुसंधानकर्ता सुरेंद्र कुमार सरोज ने सभी बिंदुओं पर अनुसंधान करते हुए आरोप पत्र समर्पित किया है।

सिटी एसपी के रीडर के द्वारा 50 ,50 हजार घुस मांगा गया था। निगरानी ने घूस मांगने की बात का सत्यापन अपने विभाग के सिपाही मोहन कुमार पांडे के द्वारा करवाया। जिसके बाद सत्यापन कर्ता ने प्रतिवेदन सौंपा  और एक लाख रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ अजय कुमार पकड़े गए थे। 

रीडर की गिरफ्तारी के बाद यह कयास लगाए जा रहे थे कि आखिर इतनी मोटी रकम रीडर खुद तो नहीं पचा सकता है। 

हालांकि एफआईआर कर्ता मुस्तफा हुसैन ने निगरानी के समक्ष जो खुलासे किए थे उसमें उसने कहा था कि सिटी एसपी भी बतौर नजराना नाइक के 8 नंबर जूते की मांग कर रहे थे। इस बात पर निगरानी विभाग के एडीजी ने यह स्पष्ट किया था कि नाइक शोरूम में ले जाकर एसपी राजेंद्र भील की जूते की नाप लिया जाए और उसके बाद उचित कार्रवाई की जाए। 

जिसके बाद केस की आईओ ने पटना के पॉश इलाके के एक नाइक शोरूम में एसपी साहब को लेकर गया और उनके जूते का साइज मिलान किया गया है। जिसके बाद अनुसंधान पूर्ण करते हुए अनुसंधान को पूर्ण रूपेण बन्द करते हुए चार्जशीट दाखिल कर दिया है।

वहीं इस मामले को लेकर तत्कालीन सिटी एसपी राजेन्द्र भील से बात करने की कोशिश की गई, किन्तु सम्पर्क नही हो पाया है।

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News