किसान शंकर सिंह हत्याकांड में एक नामजद गिरफ्तार, थानाध्यक्ष ने ली मृतक की बेटी की पढ़ाई की जिम्मेदारी

किसान शंकर सिंह हत्याकांड में एक नामजद गिरफ्तार, थानाध्यक्ष ने ली मृतक की बेटी की पढ़ाई की जिम्मेदारी

NAUGACHHIA : बिहपुर लत्तीपुर दक्षिण पंचायत के वार्ड नंबर 8 लत्तीपुर -जमालदीपुर निवासी पूर्व जिला परिषद के छोटे भाई सुनील सिंह हत्याकांड में बिहपुर थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह की अगुवाई में गुरुवार की रात एक नामजद आरोपी को दबोच लिया. नवगछिया एसपी सुशांत कुमार सरोज ने बताया की गिरफ्तार आरोपी कुख्यात कन्हैया चौधरी का पिता मनोज चौधरी है. उन्होंने बताया की मृतक किसान सुनील सिंह की पत्नी रीता देवी उर्फ नमिता के फर्द बयान पर मामला दर्ज किया गया है. जिसमें सोनवर्षा के कुख्यात कन्हैया चौधरी, मनोज चौधरी और तीन अज्ञात को नामजद किया है. जिसमें मनोज चौधरी को गिरफ्तार कर लिया गया है. कन्हैया को पकड़ने को ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है. 

उधर मृतक किसान सुनील सिंह के घर मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है. मृतक की पत्नी रीता उर्फ नमिता, पुत्री प्रिया व चांदनी का रो-रो कर बुरा हाल है. मां व बेटी रोते-रोते कह रही थी कैसे चलेगा घर. पिता ने कर्ज लेकर खेती किया था. अब कर्ज कैसे चुकाएंगे. परिजनों ने बताया की अपनी लड़की चांदनी का विवाह कुछ माह पहले किया था. उसका भी कुछ उधार बाकी है। कैसे घर चलेगा, मेरा पापा बहुत ही सीधा था। उसका किसी से कोई दुश्मनी नही था। कन्हैया ने मार दिया। हमलोग कैसे रहेंगे हो बाबू, वहीं मुहल्ले की महिलाएं चुप कराने की भरसक प्रयास करते दिखे.

एसपी ने घटना स्थल पर पहुंच कर बारीकी से किया निरीक्षण, दिये निर्देश 

बिहपुर में शुक्रवार को नवगछिया एसपी सुशांत कुमार सरोज सोनवर्षा के पटपारा दियारा में उस जगह पर पहुंचे जहां कुख्यात कन्हैया चौधरी ने जमालदीपुर के किसान सुनील सिंह उर्फ सुन्नी को पीटकर कर अधमरा कर दिया था. एसपी श्री सरोज करीब एक घंटा दियारे में रुके और बासा मालिक से जानकारी लिया. जहां पर किसान को पीटा गया था।वहां से ब्लड के सेंपल भी लिये गये साथ ही बांस के डंडे को भी जब्त किया गया. इस दौरान हेडक्वाटर डीएसपी सुनील पांडे, इंस्पेक्टर विनय कुमार, बिहपुर थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह, झंडापुर ओपी प्रभारी अजीत कुमार, भवानीपुर ओपी प्रभारी रमेश कुमार, खरीक थानाध्यक्ष सूबेदार पासवान, नदी थानाध्यक्ष आदि मौजूद थे.

 वहीं एसपी ने बताया कि कुछ अखबारों में छपी खबर की नाम व जाति पूछकर किसान की हत्या की गई है. उसका खंडन करते हुये एसपी ने बताया की कुख्यात बदमाश कन्हैया के घोड़ी के पैर में चोट लगी थी. जिसके चलते वह नाव पर बैठे लोगों से गमछा मांग रहा था. इसी बात पर सुनील सिंह से विवाद हुआ. कन्हैया के साथ एक और लड़का था. उसके बाद कन्हैया ने इस वारदात को अंजाम दिया।पुलिस कन्हैया को पकड़ने को छापेमारी कर रही है. जल्द ही पकड़ लिया जाएगा.

मृतक किसान की पुत्री के पढ़ाई का खर्च उठाएंगे बिहपुर थानाध्यक्ष 

बिहपुर थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने बताया की मृतक किसान सुनील सिंह की पुत्री प्रिया कुमारी कक्षा सात में पढ़ती है. उसके दसवीं तक पढ़ाई का खर्चा उठाने का आश्वासन दिया. क्योंकि परिवार सुनील सिंह के कमाई से चलती थी. अब परिवार के सामने भरण -पोषण की समस्या आ गई।

Find Us on Facebook

Trending News