बिहार के नाम जुडी एक अनोखी उपलब्धि, भारत में हर दिन 450 लोग करते हैं आत्महत्या, बिहार का जानिए स्थान

बिहार के नाम जुडी एक अनोखी उपलब्धि, भारत में हर दिन 450 लोग करते हैं आत्महत्या, बिहार का जानिए स्थान

पटना. देश में हर दिन 450 लोग आत्महत्या करते हैं. वर्ष 2021 को लेकर जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में प्रति 1 लाख लोगों में आत्महत्या की दर 12 है. हालांकि एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार देश के दो बड़े राज्यों उत्तर प्रदेश और बिहार में आत्महत्या का दर बेहद कम है. जहाँ बड़े राज्यों में सबसे ज्यादा आत्महत्या करने वालो में केरल पहले नंबर है. वहां प्रतिदिन 26.9 लोग आत्महत्या करते हैं. वहीं तेलंगाना में भी 26.9, छतीसगढ़ में 26.4, तमिलनाडु में 24.7 और कर्नाटक में 19.5 लोग प्रतिदिन आत्महत्या करते हैं. एक तरह से उत्तर भारत की तुलना में दक्षिण भारत के लोग ज्यादा आत्महत्या करते हैं. 

वहीं इस सूची में बिहार सबसे नीचे हैं. बिहार में आत्महत्या करने वालों की संख्या 0.7 है जो देश में सबसे कम है. वर्ष 2021 में देश में कुल 1 लाख 64 हजार लोगों ने आत्महत्या की जो पिछले पांच साल में सबसे ज्यादा है. बिहार और यूपी दो सर्वाधिक जनसंख्या वाले राज्य होने के बाद भी दोनों राज्यों में आत्महत्या दर कम है. 

हालांकि देश में सबसे ज्यादा आत्महत्या दर अंडमान निकोबार है. वहां 2021 में असौत  प्रतिदिन 39.7 लोग प्रतिदिन आत्महत्या किए. इसके बाद सिक्किम में 39.2, पुडुचेरी में 31.8, केरल में 26.9. तेलंगाना में 26.9, तमिलनाडु में 24.7 है. इसके बाद गोवा, कर्नाटक, त्रिपुरा, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, दमन-द्वीप हैं. आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, दिल्ली के बाद गुजरात हरियाणा, ओडिशा, हिमाचल का नंबर आता है जहाँ हर दिन 10 से ज्यादा लोग आत्महत्या करते हैं. 

10 से कम आत्महत्या करने वालों में अरुणाचल, चंडीगढ़, असम, पंजाब, मिजोरम, राजस्थान, मेघालय, उत्तराखंड है. वहीं 5 से कम आत्महत्या वाले राज्यों में झारखंड, लद्दाख, उत्तर प्रदेश, नागालैंड है. वहीं 1 से कम वाले राज्यों में जम्मू कश्मीर, मणिपुर, लक्षद्वीप है जबकि बिहार सबसे कम 0.7 है. 


Find Us on Facebook

Trending News