आज दिनभर इन चर्चित नेताओं के विधानसभा क्षेत्र पर टिकी रहेगी पूरे राज्य की निगाह... इन चर्चित नेताओं के भाग्य का फैसला आज...

आज दिनभर इन चर्चित नेताओं के विधानसभा क्षेत्र पर टिकी रहेगी पूरे राज्य की निगाह... इन चर्चित नेताओं के भाग्य का फैसला आज...

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान आज हो रहा है आज हो रहे मतदान में पूरे राज्य के साथ-साथ देश की नजर बिहार के कुछ चर्चित सीटों पर और भी है जहां से बिहार के कद्दावर और चर्चित नेता चुनावी मैदान में हैं आज उनकी किस्मत का फैसला मतदाताओं द्वारा किया जाएगा। जिसमें बिहार सरकार के चार मंत्री महागठबंधन से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव सहित कई ऐसे नेता हैं जिनका विधानसभा क्षेत्र पूरे राज्य में चर्चित विधानसभा क्षेत्र है। 

बताते चलें कि आज 17 विधानसभा के 94 सीटों पर दूसरे चरण का मतदान हो रहा है । पिछली बार इस चरण के 31 सीट पर राजद में अपना कब्जा किया था वहीं जदयू के 19 प्रत्याशी ने जीत दर्ज की थी और भाजपा के खाते में 19 सीटें थी बाकी किसी अन्य दलों ने जीते थे।हालांकि इस बार चुनावी समीकरण बदले हुए हैं और महागठबंधन  छोड़ जदयू  एनडीए  के साथ है तो लोजपा एनडीए से अलग चुनावी मैदान में अकेले है. इन सब समीकरण के बीच इस चरण में कई ऐसी सीटें हैं, जिन पर दिग्गज नेताओं की किस्मत का फैसला होना है।

दूसरे दौर की इन VIP सीटों पर सिर्फ बिहार की ही नहीं बल्कि देश भर की नजरें हैं क्योंकि इनमें  नीतीश सरकार  के चार मंत्रियों और पूर्व सीएम के बेटे से लेकर महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के दावेदार तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव तक की सीटें शामिल हैं।

वैशाली के राघोपुर में तेजस्वी-सतीश की टक्कर

वैशाली जिले की राघोपुर विधानसभा सीट से आरजेडी नेता तेजस्वी यादव दूसरी बार चुनावी मैदान में हैं. तेजस्वी को महागठबंधन ने मुख्यमंत्री का चेहरा बनाया है, जिसकी वजह से इस सीट पर पूरे देश की नजर है. बीजेपी  ने उनके सामने सतीश कुमार को उतारा है. सतीश, 2010 के चुनाव में पूर्व सीएम राबड़ी देवी को हरा चुके हैं. वहीं, एलजेपी की ओर से मैदान में उतारे गए राकेश रौशन ने यहां मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है. हालांकि, 1995 से यह इलाका आरजेडी का मजबूत गढ़ माना जाता है और लालू यादव यहां से चुनाव जीतते रहे हैं।

समस्तीपुर के हसनपुर में तेजप्रताप और राजकुमार

समस्तीपुर जिले की हसनपुर विधानसभा सीट से पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल और पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव मैदान में हैं. 2015 में उन्होंने महुआ से चुनाव जीता था, लेकिन इस बार उन्होंने अपनी सीट बदल दी है. तेजप्रताप के सामने जेडीयू के वर्तमान विधायक राजकुमार राय चुनावी ताल ठोक रहे हैं. यादव बाहुल्य इस सीट पर कांटे का मुकाबला माना जा रहा है।

पटना जिले की बांकीपुर विधानसभा सीट काफी चर्चा में है. यहां से अभिनेता और पूर्व सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा कांग्रेस के टिकट पर चुनावी मैदान में हैं. बीजेपी से तीन बार के विधायक नितिन नवीन के अलावा प्लुरल्स पार्टी की अध्यक्ष और सीएम उम्मीदवार पुष्पम प्रिया भी चुनौती पेश कर रही हैं. पुष्पम प्रिया के चुनाव लड़ने के चलते यह सीट सुर्खियों में है।

सारण के परसा में लालू यादव के समधी का संघर्ष

सारण जिले की परसा विधानसभा सीट काफी हाई प्रोफाइल मानी जा रही है और इस बार यहां काफी कड़ा मुकाबला माना जा रहा है. जेडीयू के टिकट पर यहां से पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा प्रसाद राय के बेटे और लालू यादव के समधी चंद्रिका राय मैदान में उतरे हैं. वहीं आरजेडी के टिकट पर इस सीट से छोटे लाल राय चुनाव मैदान में हैं जबकि एलजेपी ने इस सीट पर राकेश कुमार सिंह को उतारा है. चंद्रिका राय के लिए उनकी बेटी एश्वर्या राय ने भी वोट मांगने का काम किया है, लेकिन देखना है कि वो अपने पिता को जिता पाती है कि नहीं।

पटना साहिब में नंद किशोर यादव की साख दांव पर

राजधानी पटना की सबसे वीआईपी विधानसभा सीट पटना साहिब से बिहार सरकार में पथ निर्माण मंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता नंद किशोर यादव चुनावी मैदान में हैं. महागठबंधन की ओर से कांग्रेस के टिकट पर प्रवीण सिंह उन्हें टक्कर दे रहे हैं. नंद किशोर यादव यहां से छह बार विधायक रह चुके हैं, लेकिन 2015 के चुनाव में उन्हें यहां से जीतने में पसीने छूट गए थे।

नालंदा की सदर सीट से श्रवण  कुमार पर नजर

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा की सदर सीट से बिहार सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार की प्रतिष्ठा दांव पर है. इस बार वो यहां से त्रिकोणीय मुकाबले में फंस गए है. उनके खिलाफ महागठबंधन से कांग्रेस की टिकट पर गुंजन पटेल हैं. वहीं, इस बार ए…

Find Us on Facebook

Trending News