आखिर क्यो भड़का मुंगेर पुलिस पर पब्लिक का गुस्सा... कहीं ये वजह तो नही ....

 आखिर क्यो भड़का मुंगेर पुलिस पर पब्लिक का गुस्सा... कहीं ये वजह तो नही ....

पटना : बिहार विधानसभा सभा चुनाव के ठीक एक दिन बाद मुंगेर पुलिस के खिलाफ लोग आक्रोशित हो गए और पुलिस पर हमला करने लगे। पूरे मामले को लेकर चुनाव आयोग द्वारा डीएम और एसपी को तत्काल हटा दिया गया है नए डीएम और एसपी शाम तक पदभार ग्रहण करेंगे। लेकिन सबसे बड़ा सवाल चुनाव के ठीक एक दिन बाद आखिरकार क्यों मुंगेर में भड़क गया हिंसा इसको लेकर कहा जा रहा है कि  एक तरफ पुलिस के लाठीचार्ज से जहां स्थानीय लोग काफी खफा थे तो दूसरी तरफ पुलिस की कार्रवाई ने उन्हें उग्र बना दिया।

सूत्रों की अगर मानें तो मां दुर्गा के मूर्ति विसर्जन के दौरान पुलिस के लाठीचार्ज और गोली लगने से जहां एक युवक की मौत हो गई वहीं दर्जनों घायल हो गए थे ।इसके साथ-साथ लगभग कई दर्जन लोग लापता हो गए थे ।वहीं पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार भी किया था। एक तरफ जहां लोग पुलिस की गोलीबारी से खफा थे तो दूसरी तरफ अपने परिजन पर पुलिस का हो रहा प्रहार को देखकर वह लोग एसपी को लिखित शिकायत देते हुए लापता परिजन की बरामदगी की गुहार लगाई थी। लेकिन पुलिस के द्वारा उनके साथ सही व्यवहार नहीं किया गया। 

वहीं नजदीकी थाने की पुलिस के द्वारा रोजाना लोगों की गिरफ्तारी हो रही थी इन सब बातों को लेकर आज सुबह से ही लोग आक्रोशित हुए और देखते-देखते दोपहर को सभी हजारों की संख्या में जमा होकर पुलिस कार्यालय पहुंचे जहां एसपी की गाड़ी और कार्यालय में आग लगा दिया। सूत्रों की माने तो ऐसा कहा जा रहा है कि पुलिस की कार्रवाई के बाद से 100 लोग लापता है जिन्हें पुलिस के द्वारा खोजने में लापरवाही  बरती जा रही थी ।हम लोगों को ऐसा एहसास  हो रहा था कि कहीं इनके साथ भी कोई अनहोनी घटना नहीं घट गई हो इन सब बातों को लेकर आज आक्रोशित लोग एसपी कार्यालय पहुंचे जहां इस तरह की घटना घटी।

 सोशल मीडिया पर वायरल हो रही एसपी की लिखित शिकायत की तस्वीर 

ये भी पढ़े ....तानाशाह SP की हरकत से जल उठा मुंगेर... पहले भी लग चुका है इन पर आरोप... डीएम एसपी चुनाव आयोग ने हटाया

बताते चलें की मुंगेर में दो दिन पहले मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान उपद्रव की घटना हुई थी। इस घटना में गोली लगने से एक युवक की मौत हो गई थी जबकि कई लोग घायल हो गए थे।इस घटना के दो दिन बाद गुरुवार को फिर से शहर में हिंसा की खबरें आई थी. भीड़ ने कई पुलिस थानों को निशाना बनाते हुए रोड़ेबाजी और आगजनी की थी साथ ही एसपी लिपि सिंह के दफ्तर को भी निशाना बनाया. इस घटना के बाद बिहार निर्वाचन आयोग ने कड़ी कार्रवाई करते हुए मुंगेर की एसपी लिपि सिंह और डीएम राजेश मीणा को तत्काल प्रभाव से हटाने का आदेश जारी किया है।निर्वाचन आयोग ने यह फैसला मुंगेर में लगातार भड़क रही हिंसा के बाद लिया है. इस घटना के बाद निर्वाचन आयोग ने पूरे मामले की जांच के भी आदेश दिए हैं जो कि मगध प्रमंडल के कमिश्नर असंगबा चुबा आव करेंगे. इस घटना को लेकर निर्वाचन आयोग ने 7 दिन के अंदर जांच रिपोर्ट भी मांगी है और मुंगेर में नए डीएम और एसपी कि आज ही पोस्टिंग की जाएगी।


ये भी पढ़े ....IPS लिपि सिंह पर पहले भी लगे हैं गंभीर आरोप, सांसद की गाड़ी से 'अनंत सिंह' को ले जाने पहुंच गई थी साकेत कोर्ट.

लोगों ने फायरिंग का आरोप पुलिस पर लगाया है और लगातार वहां की एसपी लिपि सिंह को हटाने की मांग कर रहे थे. मुंगेर में हुई इस घटना के बाद से बिहार की राजनीति पूरी तरह से गरमा गई है. विपक्ष ने इस मुद्दे को हाथों-हाथ लिया है. बुधवार को बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी इस मामले में कड़ी कार्रवाई के साथ ही उच्च न्यायालय के किसी रिटायर्ड जस्टिस से पूरे घटना की जांच की मांग की थी. इस मुद्दे को चिराग पासवान भी लगातार उठा रहे हैं और सरकार को घरेने की कोशिश कर रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News