आम लोगों के लिए पूरी तरह खुले महाबोधि मंदिर के दरवाजे, सुबह पांच बजे भी कर सकेंगे दर्शन

आम लोगों के लिए पूरी तरह खुले महाबोधि मंदिर के दरवाजे, सुबह पांच बजे भी कर सकेंगे दर्शन

गया। लॉकडाउन में बंद किया गया विश्व धरोहर महाबोधि मंदिर सोमवार से आम लोगों के लिए पहले की ही तरह खोल दिया गया है। अब मंदिर रोजाना सुबह पांच बजे से रात्रि नौ बजे तक खुलेगा। इस दौरान श्रद्धालु मंदिर के गर्भगृह में पूजा तो कर सकते हैं, लेकिन उन्‍हें वहां रुकने की इजाजत नहीं दी गई है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए मंदिर खोलने की गाइडलाइन भी तय की गई है। महाबोधि मंदिर परिसर के निकट स्थित भगवान बुद्ध के 80 फीट के स्तूप को भी आम लोगों के लिए खोल दिया गया है।

मंदिर को पहले की तरह ही खोलने की हो रही थी मांग

महाबोधि मंदिर प्रबंधन समिति ने एक महीने पहले महाबोधि मंदिर को सुबह छह बजे से 10 बजे और अपराह्न तीन बजे से रात्रि नौ बजे तक के लिए खोल दिया था, लेकिन यह वक्‍त श्रद्धालुओं को देखते हुए कम पड़ रहा था। श्रद्धालु मंदिर को पहले की तरह ही खोलने की मांग कर रहे थे। इसे देखते हुए महाबोधि मंदिर प्रबंधन समिति की बैठक में मंदिर को सुबह पांच बजे से रात्रि नौ बजे तक खोलने का प्रस्‍ताव पारित किया। इसे गया के जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने अपनी स्वीकृति दे दी है। हालांकि, कोरोना का संकट अभी टला नहीं है, इसलिए कुछ शर्तें भी लगाई गई हैं।  

बता दें महाबोधि को देश की ऐतिहासिक धरोहर माना जाता है, हर साल यहां देश विदेश से लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं।  साथ ही इसे बिहार के पर्यटन का मुख्य केंद्र भी माना जाता है। लेकिन लॉकडाउन के कारण इसे आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया था, जिसके कारण गया के पर्यटन से जुड़े लोगों को भी काफी नुकसान का सामना करना पड़ा था। 

Find Us on Facebook

Trending News