लखीसराय में आंगनबाड़ी सेविका चयन में धांधली, सीडीपीओ ने दिया जांच का आश्वासन

लखीसराय में आंगनबाड़ी सेविका चयन में धांधली, सीडीपीओ ने दिया जांच का आश्वासन

LAKHISARAI : बिहार सरकार सभी कार्यो मे पारदर्शिता की बात करती है. लेकिन सीडीपीओ कार्यालय कानून को ताक पर रखकर घालमेल जारी रखें हुए है. शिकायत करने पर शिकायत पत्र भी नहीं लिया जाता है. यह हाल बड़हिया सीडीपीओ कार्यालय का है. मंगलवार को बड़हिया सीडीपीओ कार्यालय में गंगासराय वार्ड नंबर दो की तीन महिला मधु कुमारी 25 सितम्बर को गंगासराय वार्ड नंबर 2 में सेविका चयन में घोर धांधली की शिकायत पत्र देने पहुंची. लेकिन महिला सुपरवाइजर ने शिकायत पत्र लेने से इंकार कर दिया. 

इसके बाद उसने बगल में बड़हिया डाक खाना से सीडीपीओ, डीएम, एसडीएम, आयुक्त, बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव को रजिस्ट्री किया. जिसमें कहा कि जिस दिन बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की घोषणा होने वाला था. उस दिन आनन फानन में महिला सुपरवाइजर सुजाता कुमारी ने गंगासराय वार्ड नंबर दो में पहुंच कर आम सभा किया. 

जिसमें सर्वप्रथम उपस्थित लोगों से रजिस्टर पर हस्ताक्षर करवा लिया. नौ अभ्यर्थियों में आठ अभ्यर्थी उपस्थित हुए. सभी अभ्यर्थियों का काउंसलिंग किया गया. उसमें सबसे अधिक नंबर मधु कुमारी के नाम घोषणा नहीं कर बबलू शर्मा की पत्नी मिकु कुमारी को चयन की घोषणा कर दी. हमलोग अंकपत्र दिखाने की मांग करते रहे. लेकिन उसका नंबर एवं प्रमाण पत्र नहीं दिखाया गया. इससे प्रमाणित होता है की इसमें अनियमितता बरती गई है. शिकायत करने सीडीपीओ कार्यालय पहुंची तो वहां बैठी वही महिला सुपरवाइजर सुजाता कुमारी ने हमलोगो को भगा दिया. तब हार कर बड़हिया डाक घर से रजिस्ट्री करना पड़ा. 

बोली सीडीपीओ

वहीँ सीडीपीओ मोनिका रानी ने बात को काटते हुए कहा कि चुनाव आचार संहिता के तहत बड़ा बाबू का प्रतिनियुक्ति सूर्यगढा कर दिया है. सभी फाइल उन्हीं के पास है. शिकायतकर्ता के मामले की जांच किया जायेगा. 

लखीसराय से कमलेश कुमार की रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News