अब खुलेगा आईआईटी पटना कैम्पस, लेकिन छात्र होंगे 14 दिन हॉस्टल क्वारंटाइन

अब खुलेगा आईआईटी पटना कैम्पस, लेकिन छात्र होंगे 14 दिन हॉस्टल क्वारंटाइन

DESK:  अनलॉक-4 की शुरुआत होने के बाद से ही शिक्षण संस्थानों को खोलने की प्रक्रिया शुरु हो गई है. हर शिक्षण संस्ठान अपने-अपने स्तर से तैयारी भी कर रहा है कि कैसे खोला जाएगा और कोरोना काल में क्लासेज कैसे करवाए जाएंगे. आईआईटी पटना ने कैम्पसों में छात्रों के आने की विशेष कार्ययोजना तैयार की है. बताया जा रहा है कि कैम्पस में इस महीने के अंत में शोधध कार्यों से जुड़े रिसर्च स्कॉलरों को प्रवेश मिलेगा. उन्हें 14 दिनों तक होस्टल में क्वारंटाइन किया जाएगा.

संस्थान के डीएसडब्ल्यू मनोरंजन कुमार ने कार्यों से जुड़े रिसर्च स्कॉलरों को प्रवेश मिलेगा. उन्हें 14 दिनों तक हॉस्टल क्वारंटीन किया जाएगा. संस्थान के डीएसडब्ल्यू मनोरंजन कुमार ने बताया कि कैम्पस में 100 कमरे तैयार किये गए हैं.जहां बाहर से आने वाले पीएचडी स्कॉलर और छात्रों को बारी-बारी से रखा जाएगा. ये सभी मेडिकल टीम की निगरानी में रहेंगे.

अव्यवस्था की स्थिति न हो इसके लिए छात्रों को 100-100 के समूह में अलग-अलग दिनों में 14 दिनों के अंतराल पर बुलाया गया है. कैम्पस में सामाजिक दूरी का पालन सख्ती से कराया जाएगा. उम्मीद है कि अक्टूबर मध्य तक बीटेक या एमटेक के 100 छात्र कैम्पस में आएंगे. छात्रों को मेल कर सारी सूचनाएं भेजी जा रही हैं.

क्वारंटाइन अवधि पूरी कर अलॉट कमरे में रहेंगे

14 दिनों की हॉस्टल क्वारंटाइन की अवधि पूरा होने के बाद छात्रों को पहले से अलॉट कमरे में शिफ्ट कर दिया जाएगा. इसके बाद क्वारंटाइन के लिए विशेष रूप से तैयार किये गए 100 कमरों को सेनेटाइजर कर बाकी छात्रों को बुलावा भेजा जाएगा. कैम्पस में सभी छात्रों के आने तक यही व्यवस्था पर प्रभावी रहेगी. जबतक सभी छात्रों के क्वारंटाइन की अवधि पूरी नहीं हो जाती तबतक ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन जारी रहेगा ताकि उनकी पढ़ाई बाधित न हो. छात्रों की जांच के लिए मेडिकल टीम भी तैयार है. 


Find Us on Facebook

Trending News