अब कुत्ते-बिल्ली का भी होगा अंतिम संस्कार, यह नगर निगम कर रही है देश के पहले श्मशान का निर्माण

अब कुत्ते-बिल्ली का भी होगा अंतिम संस्कार, यह नगर निगम कर रही है देश के पहले श्मशान का निर्माण

नई दिल्ली। कुत्ते- बिल्ली का भी अब विधि विधान के द्वारा अंतिम संस्कार किया जा सकेगा। दक्षिण दिल्ली नगर निगम द्वारा ऐसे श्मशान का निर्माण किया जा रहा है, जहां लोग अपने पालतु जानवरों का अंतिम संस्कार करा सकेंगे। नगर निगम द्वारा अंतिम संस्कार के लिए एक पुजारी की भी नियुक्ति की जा रही है। जो इन पशुओं का अंतिम संस्कार कराएंगे।

कुत्ते बिल्लियों से इंसानों का प्रेम जगजाहिर है। कई लोगों का यह लगाव इतना अधिक होता है कि इन जानवरों के मरने का दुख कई  दिनों तक कम नहीं होता है। अब ऐसे ही लोगों को ध्यान में रखकर दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने द्वारका में 700 वर्ग मीटर में श्मशान बनाने का फैसला लिया है।  बताया जा रहा है कि पीपीपी मॉडल पर बन रहे इस श्मशान के लिए जल्द ही टेंडर जारी किया जाएगा।दक्षिण दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि देश में यह अनोखी तरह की पहल है. लोगों की उनके पालतु पशुओं के साथ भावनात्मक लगाव होता है, लिहाजा यह श्मशान उनकी भावनाओं का सम्मान करेगा। 

दिल्ली के सभी इलाके से लोगो के लिए छूट

कुत्ते बिल्ली के लिए बन रहे श्मशान घाट में दिल्ली के किसी भी हिस्से से लोग अपने पशुओं के अंतिम संस्कार के लिए आ सकेंगे। पालतू कुत्तों के अंतिम संस्कार के लिए वजन के हिसाब से शुल्क देना होगा। लिए 30 किलोग्राम तक के कुत्ते के लिए 2,000 रुपए और 30 किलोग्राम से अधिक वजन के कुत्ते के लिए 3,000 रुपए देने होंगे। कुत्तों के अंतिम संस्कार के बाद उनकी अस्थियों को 15 दिनों तक रखने का इंतजाम होगा। हालांकि आवारा कुत्तों का अंतिम संस्कार फ्री में किया जाएगा। 


Find Us on Facebook

Trending News