अब क्या करेंगे सदानंद सिंह? राजद नेतृत्व की नाराजगी मोल लेना नहीं चाहती कांग्रेस,तभी तो गोहिल ने उनकी मांग को किया खारिज....

अब क्या करेंगे सदानंद सिंह? राजद नेतृत्व की नाराजगी मोल लेना नहीं चाहती कांग्रेस,तभी तो गोहिल ने उनकी मांग को किया खारिज....

PATNA :  बिहार में विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर महागठबंधन के भीतर जंग जारी है।सिर्फ महागठबंधन में ही नहीं बल्कि देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के भीतर भी जंग छिड़ी हुई है।कांग्रेस के भीतर भी शह मात का खेल जारी है। कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह के बयान से कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने किनारा कर लिया है। यूं कहें कि गोहिल ने सदानंद के उस बयान को खारिज कर दिया है,जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस कम से कम बिहार की 80 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। सदानंद सिंह के अलावे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने भी सीट बंटवारे को लेकर एक नया फार्मूला दिया था। अनिल शर्मा ने कहा था कि राजद 60 फीसदी और कांग्रेस को 40  फीसदी सीटें मिलनी चाहिए।


कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी से राजद नेतृत्व खफा था।राजद नेतृत्व के खफा होने से कांग्रेस नेतृत्व परेशान हो गयी इसके बाद डैमेज कंट्रोल के लिए गोहिल मैदान में उतरे।गोहिल ने स्पष्ट मैसेज दे दिया कि हमारे नेता नाराज हो तो हो लेकिन राजद नेतृत्व को नाराज नहीं होना चाहिए।

इसके बाद बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने एक वीडियो जारी कर कहा कि सीटों के तालमेल का यह सही समय नहीं है। सीटों का बंटवारा सहयोगियों की सहमति से मिल बैठकर होगा। गोहिल ने सदानंद सिंह का नाम लिए बगैर कहा कि बिहार में लगातार ऐसी चर्चाएं हो रही है कि कांग्रेस कितनी सीटों पर लड़ेगी तो अन्य दल इतनी सीटों पर इन चर्चाओं में कोई दम नहीं है। बिहार में फिलहाल लोग बाढ़ और कोरोना से त्रस्त हैं जब कि राज्य की भाजपा जदयू की सरकार राजनीति में मगन है।

बता दे कि कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी से तेजस्वी यादव काफी खफा थे।पार्टी प्रवक्ताओं की मीटिंग में भी तेजस्वी ने साफ कहा था कि कांग्रेस के कुछ नेता नीतीश कुमार की भाषा बोल रहे।उनका निशाना साफ साफ सदानंद सिंह की तरफ था।

Find Us on Facebook

Trending News