पटना में अभी बंद नहीं होंगे डीजल से चलनेवाले ऑटो, इतने दिनों की मिली मोहलत

पटना में अभी बंद नहीं होंगे डीजल से चलनेवाले ऑटो, इतने दिनों की मिली मोहलत

PATNA : राज्य सरकार ने जनहित में एक बड़ा निर्णय लिया है। बिहार स्वच्छ ईंधन योजना 2019 को जनहित में वित्तीय वर्ष 2021 तक के लिए अवधि विस्तार किया गया है। इसके तहत अब पटना नगर निगम, दानापुर नगर परिषद, खगौल नगर परिषद एवं फुलवारी शरीफ नगर परिषद क्षेत्र में डीजल चालित ऑटो के परिचालन अवधि में 30 सितंबर 2021 तक का विस्तार किया गया है। यह निर्णय मंगलवार को कैबिनेट की बैठक से लिया गया। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि प्रदूषण नियंत्रण पर्षद के एडवाइजरी के अनुसार डीजल चालित तिपहिया वाहनों तथा पुराने पेट्रोल चालित तिपहिया वाहनों के परिचालन से पटना शहर की परिवेशीय गुणवत्ता पर प्रतिकूल असर पड़ रहा था। इसे देखते हुए पूर्व में निर्णय लिया गया था कि 31 जनवरी 2021 से पटना नगर निगम तथा 31 मार्च 2021 से दानापुर, खगौल एवं फुलवारी शरीफ नगर परिषद में डीजल चालित ऑटो का परिचालन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। कोविड-19 के मद्देनजर लागू लॉकडाउन एवं उसके बाद राज्य में घोषित चुनाव के कारण अधिकतर ऑटो चालक (वाहन स्वामियों ) द्वारा इस योजना का लाभ नहीं लिया जा सका। ऐसी स्थिति में जनहित में इस योजना का विस्तारित किया गया है ताकि अधिकतम वाहन स्वामियों द्वारा इस योजना का लाभ लिया जा सके। 

परिवहन सचिव ने बताया कि वर्तमान में पेट्रोल चालित ऑटो को सीएनजी में कन्वर्ट करने का मार्केट में किट उपलब्ध है. परंतु डीजल चालित ऑटो को बदलकर बैटरी चालित ऑटो या सीएनजी चालित ऑटो को क्रय करने का विकल्प है. ताकि प्रदूषण में कमी आ सके। इसके लिए राज्य सरकार ऑटो चालकों को सब्सिडी उपलब्ध करा रही है. जरूरत पड़ने पर बैंकों के माध्यम से उन्हें ऋण भी उपलब्ध करवाया जाएगा। डीजल चालित ऑटो को प्रतिबंधित करते हुए इसके जगह सीएनजी चालित वाहनों को बढ़ावा दिया जा रहा है। डीजल/पेट्रोल चालित ऑटो को सीएनजी में कन्वर्ट कराने वाले वाहन चालकों को राज्य सरकार की ओर से सब्सिडी भी दी जा रही है। इन जगहों पर इलेक्ट्रिक चालित तथा बैट्री चालित तिपहिया वाहन के परिचालन को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

कौन ले सकते हैं इस योजना का लाभ

 इस योजना के अंतर्गत डीजल चालित एवं पेट्रोल चालित तिपहिया वाहनों, मैक्सी कैब एवं मोटर कैब के ऐसे वाहन स्वामी, जिन्हें वर्तमान में पटना नगर निगम, दानापुर नगर परिषद, खगौल नगर परिषद एवं फुलवारीशरीफ नगर परिषद क्षेत्र के अंतर्गत परिचालन के लिए सक्षम प्राधिकार से परमिट प्राप्त हो तथा वह वैधता अवधि के अन्तर्गत हो। 

 वाहन के अनुसार  मिलेगी अनुदान की राशि

सात व्यक्तियों के बैठान क्षमता (चालक सहित) वाले डीजल/पेट्रोल चालित तिपहिया वाहन को सीएनजी चालित तिपहिया वाहन से प्रतिस्थापित करने पर 40 हजार एकमुश्त अनुदान दिया जाएगा। वहीँ 7 व्यक्तियों के बैठान क्षमता वाले पेट्रोल चालित तिपहिया वाहन को सीएनजी किट के रिट्रोफिटमेंट कराने पर 20 हजार एकमुश्त अनुदान दिया जाएगा। जबकि 7 व्यक्तियों के बैठान क्षमता वाले डीजल/पेट्रोल चालित तिपहिया वाहन को नये बैट्री चालित वाहन से प्रतिस्थापित करने पर 25 हजार एकमुश्त अनुदान दिया जाएगा। वहीँ व्यवसायिक मोटर कैब/मैक्सी कैब में सीएनजी किट के रिट्रोफिटमेंट कराने पर 20 हजार रुपए एकमुश्त अनुदान दिया जाएगा।

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News