औरंगाबाद: बहुचर्चित बैंक कैश वैन लूटकांड का फरार चल रहा मास्टरमाइंड चढ़ा पुलिस के हत्थे, अन्य धाराओं में भी हैं कई मामले दर्ज

औरंगाबाद: बहुचर्चित बैंक कैश वैन लूटकांड का फरार चल रहा मास्टरमाइंड चढ़ा पुलिस के हत्थे, अन्य धाराओं में भी हैं कई मामले दर्ज

औरंगाबाद. जिले के आठ साल पुराने बहुचर्चित बैंक कैश वैन लूटकांड मामले में फरार मास्टरमाइंड सह लूटेरा गिरोह के सरगना को पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. गिरफ्तार अपराधी गुड्डू मेहता औरंगाबाद शहर के वार्ड-27 शाहपुर का निवासी है. पुलिस के मुताबिक उसपर औरंगाबाद नगर, औरंगाबाद मुफ्फसिल एवं मदनपुर थाना में आधा दर्जन से अधिक मामले दर्ज है, जिनमें वह अरसे से फरार चल रहा था.

इनमें सबसे प्रमुख मामला 28 अक्टूबर 2013 को मदनपुर थाना क्षेत्र में औरंगाबाद-देव पथ पर खेसर गांव के पास तत्कालीन मध्य बिहार ग्रामीण बैंक(अब दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक) के कैश वैन को लूटने का है. उस वक्त अपराधियों ने बैंक कैश वैन के गार्ड की गोली मारकर हत्या करने के बाद कुल 43 लाख की रकम लूट ली थी. लूटकांड के बाद पुलिस ने भादवि की धारा 395, 397, 216ए, 412 एवं 120 बी के तहत मदनपुर थाना कांड संख्या-173/13 दर्ज कर मामले का अनुसंधान शुरू किया था.

उस वक्त वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान करते हुए पुलिस ने लूटकांड के एक सप्ताह के अंदर मामले उद्भेदन करते हुए कुल 10 अपराधियो को लूट की 7 लाख 58 हजार रुपये नगदी, 3 पिस्टल, 1 देशी कारबाईन,  315 बोर के 12 जिंदा कारतूस, 12 बोर का दो खोखा, 12 मोबाइल, कैश वैन लूट की रकम से खरीदी गई एक ब्रांड न्यू सफारी स्ट्रोम, एक सीबीजेड बाइक एवं लूट के पैसे से ख़रीदे गए कपड़े बरामद किए थे. उस वक्त भी इस लूटकांड का मास्टरमाइंड और लुटेरा गिरोह का सरगना गुड्डू मेहता पुलिस के हाथ नहीं लग सका था.

तब से लेकर आजतक पुलिस उसे सरगर्मी से तलाश रही थी, जो पूरी हो गई और वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया. इस कांड के अलावा लूटेरे गिरोह के सरगना पर औरंगाबाद नगर थाना कांड संख्या-376/08,  506/13, 112/15, 86/20, 87/20, औरंगाबाद मुफ्फसिल थाना कांड संख्या-159/15 एवं 160/15 दर्ज है. इन सभी मामलों में पुलिस को उसकी तलाश थी, जो अपराधी की गिरफ्तारी से पूरी हो गई है.


Find Us on Facebook

Trending News