पूर्व मुखिया व उसके साथियों की करतूत : एक साल तक नाबालिक से किया गैंगरेप, पीड़िता को गर्भवती कर छोड़ा

पूर्व मुखिया व उसके साथियों की  करतूत : एक साल तक नाबालिक से किया गैंगरेप, पीड़िता को गर्भवती कर छोड़ा

MUZAFFARPUR :17 साल की एक नाबालिग लड़की को पूर्व मुखिया व दो भाई मिलकर अपहरण करते हैं। फिर एक साल तक उससे दुष्कर्म करते हैं। जब किशोरी गर्भवती हो जाती है, तो उसे छोड़ देते हैं। मुजफ्फरपुर जिले में दुष्कर्म का एक ऐसा ही मामला सामने आया है। जहां रेप के कारण गर्भवती हुई किशोरी ने बीते माह एक बच्चे को जन्म दिया और अब अपने बच्चे को हक दिलाने के लिए कानून का दरवाजा खटखटाने को मजबूर है। वही आरोपियों द्वारा किशोरी और उसके बच्चे को जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

मामला जिले के जिले के गायघाट थाना की लोमा पंचायत से जुड़ा है। यहां पूर्व मुखिया मनोज सहनी व उसके साथियों पर एक गांव की नाबालिग लड़की (17) का अपहरण कर एक साल तक गैंगरेप करने की एफआईआर शनिवार को दर्ज कराई गई। एफआईआर में पूर्व मुखिया के अलावा दो सगे भाइयों कंचन सहनी, सोनू सहनी, इनके माता-पिता को नामजद व तीन अज्ञात को आरोपित किया गया है। बता दें कि मनोज सहनी की पत्नी सोनी कुमारी अभी निवर्तमान मुखिया हैं।

एक साल तक किया गैंगरेप

पीड़िता ने आरोपितों पर अपहरण, अपहरण की साजिश रचने व धमकी देकर रेप करने का आरोप लगाया गया है। उसने पुलिस को बताया कि कि घटना के वक्त वह 16 साल की थी। पिछले वर्ष अक्टूबर में आरोपितों ने बहला-फुसलाकर उसका अपहरण कर लिया और दूसरे राज्य ले गए। वहां जान मारने की धमकी देकर कंचन सहनी, सोनू सहनी, मनोज सहनी व इनके अज्ञात साथी गैंगरेप करते रहे। इस दौरान उसे अलग-अलग जगहों पर रखा गया। जब वह गर्भवती हो गई तो उसे शादी का झांसा भी दिया गया। बीते 15 अगस्त को उसने एक बच्चे को जन्म दिया। इसके बाद आरोपितों ने उसे घर लाकर छोड़ दिया।

पूर्व मुखिया के खिलाफ गांववालों ने साधी चुप्पी 

जहां मनोज सहनी पंचायत के पूर्व मुखिया रह चुके हैं, वहीं उनकी पत्नी सोनी कुमारी वर्तमान मुखिया है। दोनों का इलाके में खौफ इतना है कि जब पीड़िता बच्चे को हक दिलाने समाज में पहुंची, लेकिन किसी ने उसकी सहायता नहीं की, जिसके बाद वह सीधे कानून की शरण में चली गई। उसने बताया कि पूर्व मुखिया के भय से गांव में कोई बोलने को तैयार नहीं है।  

तेजाब से जलाने की धमकी

एफआईआर में पीड़िता ने बताया है कि उसके अपहरण के बाद परिवार को आरोपितों ने जान से मारने की धमकी दी थी। बच्चे के जन्म के बाद भी आरोपितों ने मारपीट की और धमकी दी थी कि केस किया तो तेजाब से जला देंगे।

आरोपियों की मां को किया गिरफ्तार

वहीं थानाध्यक्ष नरेंद्र कुमार ने बताया कि पीड़िता के आवेदन पर पॉक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। पांच नामजद व तीन अज्ञात को आरोपित किया गया है। कंचन की मां शैल देवी को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य आरोपित फरार हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई की जा रही है।

Find Us on Facebook

Trending News