पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर को अंतरराष्ट्रीय प्रसिद्धि दिलाने के लिए चले अभियान - आचार्य सुदर्शन

पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर को अंतरराष्ट्रीय प्रसिद्धि दिलाने के लिए चले अभियान - आचार्य सुदर्शन

PATNA : प्रसिद्ध कथावाचक संत आचार्य श्री सुदर्शन जी महाराज ने कहा है कि पटना के स्टेशन रोड स्थित प्रसिद्ध महावीर मंदिर बिहार की संस्कृति, संस्कार और भक्ति का केंद्र रहा है. विश्व में यह पहला मंदिर है जहां हनुमानजी की दो प्रतिमाएं एक साथ स्थापित हैं. ऐसा देश में कहीं नहीं है. आज लाखों लोग इस मंदिर में हजारों मनोकामनाएं रोते हुए लेकर आते हैं और मनोवांछित कामनाओं का आशीर्वाद हंसते हुए लेकर जाते हैं. उन्होंने कहा की मैं व्यक्तिगत रूप से साक्षी हूं. 

अनेक लोगों ने मुझे बताया है कि इस मंदिर का चमत्कार है कि किसी को पुत्र, किसी को धन, किसी को संकट मुक्ति, किसी को मंत्री पद, केवल निश्चल भाव से दर्शन करने से प्राप्त हो जाता है. लेकिन आज तक इन चमत्कारों की जानकारी प्रांत के अंदर और बाहर के लोगों तक नहीं पहुंच सकी है. अगर यही मंदिर किसी दूसरे प्रांत में होता तो इस दो मूर्ति वाले मंदिर की प्रसिद्धि तिरुपति, शिरडी, सिद्धिविनायक, संकट मोचन बालाजी, मेहंदीपुर जैसी फैल गई होती. लेकिन हम भक्तों का दुर्भाग्य है कि हम अपने इष्टदेव से संकट निवारण के लिए कामना तो अवश्य करते हैं, लेकिन कामना पूर्ति के उपरांत मंदिर को भुला देते हैं. 

बुधवार को आचार्य सुदर्शन जी महाराज स्वयं हनुमान मंदिर में पूजा-अर्चना करने आए थे. उन्होंने स्पष्ट कहा कि मैं बचपन से इस मंदिर में आकर हनुमान जी का आशीर्वाद प्राप्त करता रहा हूं. इसी मंदिर के आशीर्वाद से आज मैं यहां तक पहुंचा हूं. उन्होंने कहा कि मैं विश्व के अनेक देशों में रामकथा के लिए गया.  मॉरीशस, फिजी, त्रिनिदाद, लंदन आदि देशों में भगवान शिव और संकट मोचन हनुमान जी की प्रसिद्धि है. लेकिन इतनी बड़ी धरोहर हमारे पास है फिर भी हम उसका प्रचार-प्रसार इसकी महिमा का वर्णन लोगों तक नहीं पहुंचा सके. 

आचार्य सुदर्शन महाराज ने हनुमान भक्तों से प्रार्थना की है कि पटना के प्रसिद्ध महावीर मंदिर की प्रसिद्धि के लिए हम राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अभियान शुरू करें. ताकि देश के घर-घर तक संकट मोचन हनुमान जी का प्रसाद पहुंच सके. गाँव - गाँव प्रचार वाहन जाएं और जनमानस के बीच हनुमान जी के चमत्कारों से परिचित कराएं और संकल्प लें कि इस महावीर मंदिर को बाबा धाम की तरह प्रसिद्धि दिलाएंगे. बिहार को भी इस प्रसिद्धि से काफी लाभ होगा. जब देश ,विदेश के हनुमान भक्त पर्यटक के रूप में यहां आएंगे. आज काशी-विश्वनाथ और संकट मोचन के दर्शनों के लिए लाखों विदेशी वहां आ रहे हैं. फिर बिहार के महावीर मंदिर जहाँ सब की मनोकामना पूर्ण होती है वहां भी विदेशी पर्यटक आना शुरू करेंगे.

Find Us on Facebook

Trending News