शेखपुरा : आदर्श विद्या भारती स्कूल के छात्र छात्राओं का जलवा, सिमुलतला आवासीय विद्यालय के प्रवेश परीक्षा में मारी बाजी

शेखपुरा : आदर्श विद्या भारती स्कूल के छात्र छात्राओं का जलवा, सिमुलतला आवासीय विद्यालय के प्रवेश परीक्षा में मारी बाजी

DESK : सिमुलतला आवासीय विद्यालय के प्रवेश परीक्षा मे शेखपुरा के बरबीघा के ख्याति प्राप्त विद्यालय आदर्श विद्या भारती के बच्चों ने अपना परचम फिर लहरा दिया है. विद्यालय के ऑनलाइन पढ़ाई, शिक्षकों के अनुभव और प्रशासक के कुशल नेतृत्व से यह संभव हुआ है. सिमुलतला आवासीय विद्यालय के फाइनल रिजल्ट में आदर्श विद्या भारती बरबीघा की प्रज्ञा भारती तथा पूर्णिमा यादव ने राज्य में संयुक्त रूप से दूसरा रैंक प्राप्त कर विद्यालय का नाम पूरे राज्य में रौशन किया है. 

बताते चलें की पिछले सत्र में ऑनलाइन क्लास के माध्यम से शिक्षकों की टीम लगातार प्रयासरत रही. विद्यार्थियों के लगन और परिश्रम के कारण ही 11 विद्यार्थियों ने सिमुलतला आवासीय विद्यालय के अंतिम चयन में स्थान बनाया. कई अभिभावकों की नजर में ऑनलाइन क्लास का कोई महत्व नहीं है. लेकिन पढ़ने वाले लगनशील विद्यार्थियों ने यह साबित कर दिया कि यदि ध्यानपूर्वक ऑनलाइन क्लास ज्वाईन किया जाए  तो उसका परिणाम बेहतर होगा. सभी सफल छात्र एवं छात्राओं को ऑनलाइन माध्यम से ही शुभकामनाएं दी गई. साथ ही अगले सत्र में शामिल होने वाले प्रतिभागियों को भी सफलता के लिए प्रेरित किया गया. 

सफल होने वाले विद्यार्थियों में गोपाल कुमार 2460290 (शादीपुर, नवादा), प्रज्ञा भारती 2460058 (धीरा, हलसी, लखीसराय), पूर्णिमा यादव 2460065 (मस्तानगंज, नवादा), शैली राज 2460096 (नोनियाबीघा,बिहार शरीफ,नालंदा), राधा रानी 2460066 (सरायरंजन, समस्तीपुर), मीरा कुमारी 2460047 (हाथीदह,पटना ), प्रिया 2460062 (घोसरावां, गिरियक, नालंदा), करिश्मा कुमारी 2460032 (भागोबीघा, नवादा), पम्पी  कुमारी 2460064 (जलालपुर, वारिसलीगंज, नवादा), श्रेया रानी 8260097 (कन्हाई नगर, नवादा) तथा सुरभि सिंह 8260125  (नारोमुरार, वारिसलीगंज, नवादा) शामिल है. गौरतलब है कि पिछले सत्र में भी सिमुलतला आवासीय विद्यालय के लिए आदर्श विद्या भारती 44 विद्यार्थियों ने सफलता प्राप्त कर इतिहास रच दिया था. इस बड़ी सफलता पर विद्यालय के संचालक संजीव कुमार ने कहा कि पढ़ाई में ऑनलाइन और ऑफलाइन कोई ज्यादा महत्व नहीं रखता है. अगर हममें कुछ करने की इच्छाशक्ति हो तो कोई भी माध्यम क्यू ना हो. हम अपने मंजिल तक जरूर पहुँच बना सकते है. वही आदर्श विद्या भारती की सफल छात्रा प्रज्ञा भारती ने कहा कि लॉक डाउन के कारण पहले तो ऑनलाइन क्लास करने में कुछ परेशानी जरूर हुई. लेकिन शिक्षक के कुशल दिशा निर्देश और पढ़ाने के ढंग ने सफलता की सीढ़ी को आसान बनाया और यह सफलता मिली है. 


Find Us on Facebook

Trending News