NAWADA NEWS : मधुबनी में जज पर हमले के विरोध में उतरे अधिवक्ता, दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने की मांग

NAWADA NEWS : मधुबनी में जज पर हमले के विरोध में उतरे अधिवक्ता, दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने की मांग

NAWADA : नवादा के सिविल कोर्ट में झंझारपुर न्यायालय के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश पर दो पुलिसकर्मी के द्वारा किये गए हमले की लगातार निंदा की जा रही है। अधिवकताओं ने उन दोनो पुलिसकर्मियों पर कर्तव्यहीनता का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि उन दोनों के द्वारा किया गया अपराध न्यायपालिका पर हमला करने के समान है। पुलिसकर्मियों को हथियार अपराधियों के विरूद्ध इस्तेमाल करने के लिये दिया जाता है। दोनों पुलिसकर्मियों ने तो कानून की सभी सीमायें को लांघते हुए न्यायाधीाश पर हथियार तान दिया और मारपीट किया। 

झंझारपुर घटना पर रोष व्यक्त करते हुए सदर अनुमंडल एडवोकेट के सदस्य बाह पर काला फीता लगा कर न्यायालय परिसर में शांतिपूर्ण रूप प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान अधिवक्ताओं के हाथ में तख्ती भी था। जिस पर उस घटना को गम्भीर अपराध बताया गया। घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए जिला अधिवक्ता संघ के सचिव निरंजन कुमार सिंह ने कहा कि उस घटना की जितनी भी निंदा की जाय वह कम है। भारत लोकंतांत्रिक देश है। जहाॅ न्यायपालिक एक सम्मानित संस्था है। देश के किसी व्यक्ति को न्यायपालिका पर हमला करने का अधिकार नहीं है। 

वहीं सदर अनुमंडल एडवोकेट के कोषाध्यक्ष डॉ. राकेश कुमार ने कहा कि पुलिस की वर्दी में गुंडागर्दी करने वाले दोषी पुलिसकर्मी को नौकरी से निष्कासित किया जाना चाहिये। ताकि भविष्य में कोई भी पुलिसकर्मी ऐसा हरकत करने केे पहले सोचेगा। सभी ने एक स्वर में कहा कि मामला उच्च न्यायालय में विचाराधीन है। इसलिये अभी शांति रूप से विरोध प्रकट किया जा रहा है। आवयकता पड़ने पर पूरे बिहार में प्रदर्शन किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि मधुवनी जिला अंतर्गत घोघरडीहा थानाध्यक्ष गोपाल कृष्ण तथा दारोगा अभिमन्यु कुमार ने 18 नवम्बर की दोपहर अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव अविनाश कुमार के कक्ष में बिना अनुमति के घुस गये तथा गाली-गलौज करते हए उनके उपर सर्विस रिवाल्वर तान दिया। साथ ही उनके साथ मारपीट भी किया। इस मामले में उच्च न्यायालय ने स्वतः संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार के वरीय पदाधिकारी व पुलिस विभाग के वरीय पदाधिकारी को कोर्ट में तलब किया है। सुनवाई की अगली तिथि 29 नवम्बर निर्धारित की गई है। जबकि दोनो पुलिसकर्मी के विस्द्ध सुसंगत धाराओं में प्राथमिकी दर्ज करते हुए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इस मौके पर उपाध्यक्ष मोहम्मद बरकतुल्लाह खान, कार्यकारिणी सदस्य रंजना सिन्हा आदि कई लोग उपस्थित थे।

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News