नीतीश राज में अफसरशाही ने लांघी सारी सीमाएं, शिक्षा विभाग के अफसर ने नहीं दिया विधानसभा में पूछे गए सवाल का जवाब

नीतीश राज में अफसरशाही ने लांघी सारी सीमाएं, शिक्षा विभाग के अफसर ने नहीं दिया विधानसभा में पूछे गए सवाल का जवाब

PATNA : नीतीश राज में अफसरशाही ने सारी सीमाएं को लांघ दिया है। उन्हें न तो अपने वरिष्ठ अधिकारियों का डर है और न विधानसभा का। ताजा मामला विधानसभा में पूछे जाने वाले विधायकों के सवाल से जुड़ा है। मामला शिक्षा विभाग से जुड़ा है। विधानसभा के चालू सत्र में वारिसलीगंज की विधायक अरूणा देवी ने शिक्षा विभाग से जुडा एक तारांकित सवाल किया था। विधानसभा ने उस सवाल के जवाब के लिए शिक्षा विभाग को पत्र भेजकर तत्काल जवाब देने का निर्देश दिया। लेकिन नवादा डीईओ ने जवाब देना उचित नहीं समझा और फोन उठाना भी बंद कर दिया।

नवादा डीईओ से जुड़ा था सवाल

विधायक अरूणा देवी ने नवादा के शिक्षा विभाग से जुड़ी सवाल पूछी थी। जवाब के लिए शिक्षा विभाग के निदेशक ने 30 जनवरी 2019 को ही पत्र भेज डीईओ नवादा से हर हाल में 11 फरवरी तक जवाब देने का निर्देश दिया था। लेकिन डीईओ ने जवाब नहीं दिया। इसके बाद मुख्यालय स्तर से लगातार  उक्त डीईओ को जवाब भेजने का निर्देश दिया जाता है। हद तो तब हो गई जब डीईओ ने जवाब देने की बजाए अपने वरीय अधिकारियों का फोन उठाना भी बंद कर दिया। विवश होकर शिक्षा विभाग के निदेशक ने नवादा डीएम से संपर्क किया। तब जाकर विधायक के सवाल का जवाब मिल सका।

अब डीईओ पर लटकी कार्रवाई की तलवार

माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने इस मामले पर सख्त रूख अख्तियार किया है और नवादा डीईओ को गैर जिम्मेदार बताते हुए कार्रवाई की चेतावनी दी है। निदेशक ने 11 फरवरी को ही डीईओ से 4 बिंदूओ पर जवाब देने का निर्देश दिया है। निदेशक ने पूछा है कि आपके इस कृत्य की वजह से क्यों न आपको निलंबित कर दिया जाए?

Find Us on Facebook

Trending News