3 साल बाद दिवाली पर BSF जवान और पाक रेंजर्स ने एक दूसरे को दी मिठाई, पुलवामा हमले के बाद बंद थी परम्परा

3 साल बाद दिवाली पर BSF जवान और पाक रेंजर्स ने एक दूसरे को दी मिठाई, पुलवामा हमले के बाद बंद थी परम्परा

N4N DESK : आज पूरे देश में बुराई पर अच्छाई का, अज्ञानता पर ज्ञान और अन्धकार पर प्रकाश की जीत का पर्व दीपावली बड़े धूमधाम से मनाया जा रहा है। हर जगह लोग मिठाई खिलाकर खुशियाँ बाँट रहे हैं। वहीँ हर घर और सडकों को रौशनी से जगमग कर दिया गया है। इसके साथ ही आज दीपावली की ख़ुशी भारत और पाकिस्तान की सीमा पर भी देखने को मिली। जहाँ सीमा पर तैनात दोनों देशों के जवानों ने एक दुसरे को मिठाई देकर दीपावली की शुभकामना दी। 

जम्मू-कश्मीर में LOC के साथ पंजाब और राजस्थान में सीमा पर तीन साल के अंतराल के बाद भारतीय सुरक्षा बलों के जवानों ने पाकिस्तानी सैनिकों को दिवाली की मिठाई खिलाई। बताते चलें की जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद जवानों को मिठाई देने की परम्परा बंद हो गयी थी। जबकि यह परम्परा आज़ादी के बाद से ही चली आ रही थी। 

राजस्थान सीमा पर बाड़मेर जिले में आज बीएसएफ और पाक रेंजर्स के बीच मिठाईयों का आदान प्रदान हुआ। मुनाबाव, गडरारोड़, कैलनोर, बाखासर की चौकियों पर BSF की तरफ से बाड़मेर जिले के प्रसिद्ध गडरा (कस्बा) के लड्‌डू के साथ-साथ अन्य मिठाइयों के पैकेट भेंट किए। पाकिस्तानी सैनिकों ने भी अपने यहां की मशहूर मिठाइयां BSF जवानों को दी। वहीँ BSF के जवानों ने पंजाब के अमृतसर में मशहूर अटारी-वाघा बॉर्डर पर भी पाकिस्तानी रेंजर्स के सिपाहियों को दिवाली पर मिठाई खिलाई। साथ ही जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तानी सैनिकों का मुंह मीठा कराया। पाकिस्तानी सेना ने भी भारतीय जवानों को मिठाई बांटी। इस दौरान दोनों तरफ के सैनिकों ने आपस में गले लगकर शुभकामनाएं दीं।

Find Us on Facebook

Trending News