NDA का नेता चुने जाने के बाद मोदी ने सबसे पहले आडवाणी और जोशी के छुए पैर, सांसदों को दी यह बड़ी सलाह

NDA का नेता चुने जाने के बाद मोदी ने सबसे पहले आडवाणी और जोशी के छुए पैर, सांसदों को दी यह बड़ी सलाह

NEWS4NATION DESK : भाजपा और एनडीए संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद मोदी ने वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के पैर छूकर उनका आशीर्वाद भी लिया। इसे बाद कक्ष में विशेष रूप से रखी गई संविधान की पुस्तक के पास गए और माथा टेककर उसे नमन किया। 

दोनो वरिष्ठ नेताओ और संविधान की पुस्तक के समक्ष माथा टेकने के बाद मोदी ने अपना संबोधन दिया। 

अपने संबोधन में मोदी ने नवनिर्वाचित सांसदो को कई संदेश और सलाह दिए। उन्होंने सबसे पहले कहा कि अल्पसंख्यक वर्ग को भ्रमित-भयभीत रखा गया। वोट बैंक की राजनीति में काल्पनिक भय बनाया गया। हमें उनके समेत सभी का विश्वास जीतना है।

मोदी ने कहा कि देश में गरीब एक राजनीतिक संवाद-विवाद का विषय रहा है। गरीबों के साथ जो छल चल रहा था, उस छल में हमने छेद किया है और सीधे गरीब के पास पहुंचे हैं। हमारा एक ही मूलमंत्र होना चाहिए सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास। 

उन्होंने सांसदों को सलाह देते हुए कहा कि हम भी नागरिक हैं तो कतार में क्यों नहीं खड़े हो सकते। हमें जनता को ध्यान में रखकर खुद को बदलना चाहिए। आप कुछ भी करें खुद को कसौटियों पर जरूर कसें। मोदी ने कहा कि संविधान को साक्षी मान हम संकल्प लें कि सभी वर्गों को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। पंथ-जाति के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए। हमें 21वीं सदी में हिंदुस्तान को ऊंचाइयों पर ले जाना है। 


Find Us on Facebook

Trending News