पूरा रेलवे स्टेशन जलाने के बाद अब तारेगना के लोगों को हुए अपनी गलती का एहसास, शांति मार्च निकालकर की घटना की निंदा

पूरा रेलवे स्टेशन जलाने के बाद अब तारेगना के लोगों को हुए अपनी गलती का एहसास, शांति मार्च निकालकर की घटना की निंदा

MASAURHI : दो दिन पहले बिहार बंद के दौरान पटना जिले के तारेगना स्टेशन को आग में झौंकने की घटना के बाद सभी तरफ से हो रही आलोचना के बाद अब यहां के लोगों को अपनी गलती का एहसास हुआ है। नतीजा यह है कि जिस तरह से स्टेशन पर आगजनी की घटना हुई, उसके बाद आज मसौढ़ी में युवाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने मिलकर एक शांति मार्च निकाला है।यह शांति मार्च मसौढ़ी के कर्पूरी चौक से होते हुए मसौढ़ी अनुमंडल चौराहा तक जाएगा।

मार्च का नेतृत्व करते हुए मसौढ़ी एएसपी वैभव शर्मा ने बताया कि यह शांति मार्च इसलिए है ताकि हम लोगों से अपील कर सकें कि सहर में शांति वयवस्था बनाये रखें।एएसपी लोगों से अपील कर रहे हैं कि मसौढ़ी में आज भारत बंद के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखें ताकि किसी भी तरह के असामाजिक तत्व मसौढ़ी में आज हावी ना हो सके। साथ ही साथ प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि असामाजिक तत्व पर नजर बनाए और किसी भी तरह की गड़बड़ी दिखने पर सूचना तुरंत पुलिस को दें ताकि पुलिस तुरंत इसपर करवाई कर सके। इस दौरान मार्च में शामिल लोगों ने भी बीते दिनों तारेगना स्टेशन में हुई आगजनी की घटना को गलत बताया और इसे देशहित  के खिलाफ बताया है। 

पूरा स्टेशन कर दिया था तहस नहस

दो दिन पहले जहां पूरे बिहार में विरोध को शांत करने के प्रयास किए जा रहे थे। वहीं तारेगना स्टेशन पर सुनियोजित तरीके से उपद्रवी तत्वों ने हमला कर दिया और पूरे स्टेशन को तहस नहस कर दिया। यहां बुकिंग काउंटर से लूटपाट की गई। जीआरपी को जलाया गया। एसएम ऑफिस और रेल पैनल रूम में भी तोड़फोड़ की गई और पटरी पर गाड़ियों को जलाया गया। इस दौरान पुलिसकर्मियों पर गोलियां भी चलाई गई।


Find Us on Facebook

Trending News