पांच साल बाद 7 दिसंबर को पटना आ रहे हैं आईपीएस शिवदीप लांडे, कहा इकबाल मिर्ची को नहीं पकड़ने का मलाल है

पांच साल बाद 7 दिसंबर को पटना आ रहे हैं आईपीएस शिवदीप लांडे, कहा इकबाल मिर्ची को नहीं पकड़ने का मलाल है

PATNA : 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी शिवदीप लांडे 5 साल बाद अपने मूल कैडर में वापस बिहार आ रहे हैं। वह मंगलवार यानी 7 दिसंबर को पटना पहुंच जाएंगे। अगले दिन 8 दिसंबर को वो गृह विभाग में अपनी ज्वाइनिंग देंगे। इसके साथ ही वो अभी वेटिंग फॉर पोस्टिंग में रहेंगे। बताते चलें की शिवदीप लांडे पटना सेंट्रल में सिटी एसपी के रूप में अपनी बेहतरीन सेवाएं दे चुके है। जिन्हें बिहार के सिंघम के रूप में जाना जाता है। साथ ही युवा युवतियों के बीच काफी चर्चित, ईमानदार शक्ति छवि के रूप में जाने जाते हैं। शिवदीप लांडे बिहार के अररिया, पूर्णिया एवं मुंगेर जिले में भी अपनी सेवा दे चुके हैं। 

फिलहाल विगत 5 वर्षों से मुंबई पुलिस में एंटी टेररिज्म स्क्वायड - ATS में डीआईजी के पद पर सेवाएं दे रहे थे। मुंबई से आने के पहले लांडे ने अपने फेसबुक वाल पर लिखा है की महाराष्ट्र में मेरे 5 वर्षों के कार्यकाल में मैंने अनेक विषयों पर कार्य किया। लेकिन साढ़े तीन साल से ज्यादा समय एंटी नारकोटिक्स विभाग (ANC ) में बिताया और ये विभाग मेरे दिल के करीब रहा। फील्ड ऑपरेशन्स के अलावा इस विभाग के जरिये मुझे युवा एवं सन्मार्ग से भटके लोगों से भी जुड़ उन्हें वापस समाज के मुख्यधारा से जोड़ने का अवसर भी मिला। एंटी नारकोटिक्स विभाग में मेरे कार्यकाल में कई ऑपरेशन्स हैं। उन्होंने लिखा है की मेरे ANC के कार्यकाल के दौरान मैंने ड्रग्स के सप्लाई व्यवस्था को तोड़ते हुए लगभग 251 केसेस पंजीकृत किया। जिसमे 429 लोगों की गिरफ़्तारी हुई और कुल 1070 करोड़ से ऊपर के ड्रग्स सिज़ किये गए।

लांडे ने लिखा है की दुनिया भर के ड्रग्स जैसे कोकेन, हेरोइन, चरस, LSD, ECSTACY, MDMA, FENTANYL, MD, मरीजॉना, कोरेक्स, बटन्स इत्यादि इन बड़े सिज़र्ज़ में अंकित रहे। ANC द्वारा दर्ज की गयी सभी केसेस में से 98% केसेस कमर्शियल मात्रा के तहत दर्ज़ हुई। जिसमे कम से कम 20 वर्षों की कारावास की सज़ा है। वहीँ मुंबई पुलिस ने 23 वर्षों बाद दो MD ड्रग्स की फैक्ट्री को बर्स्ट किया- एक हुबली, कर्नाटक और दूसरी पुणे, महाराष्ट्र में किया। जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश से चलने वाले चरस के सिंडिकेंट को ध्वस्त किया। आंध्र और ओडिशा सीमा रेखा से चलने वाले गांजा के सप्लाई चेन को पूर्णतः ध्वस्त किया। मानव जानकारी में सबसे घातक ड्रग्स 'फ़ेंटानिल का आज तक का विश्व का सबसे बड़े केस तकरीबन 1000 करोड़ का जब्त था, जिसमे इटली और मेक्सिको में मुंबई ANC के मदद से अंतर्राष्ट्रीय ड्रग्स माफियों पर करवाई हुई। 

उन्होंने राजस्थान से सटे पाकिस्तान बोर्डर इलाके से चलने वाले हेरोइन के रैकेट को तोडा। अंतर्राष्ट्रीय कोकेन ड्रग्स के कार्टेल से जुड़े करीब 74 विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया। बॉलीवुड के सबसे बड़े कोकेन ड्रग्स, LSD सप्लायर को गिरफ्तार किया, जिनका पिछले साढ़े चार सालों से बेल नहीं हो पाया है। बॉलीवुड से जुड़े बड़े प्रोडूसर, एक्टर्स एवं उद्योगपति, बिल्डर्स और इनके करीब 30 लड़के-लड़कियों को ड्रग्स की लत से बहार निकाल मुख्यधारा में वापस लाया। करीब 400 से ज्यादा युवा को ड्रग्स से निकाल रिहैबिलिटेशन करवाया, जिस दौरान मैं स्कूल-कॉलेज में जा-जा कर उनको ड्रग्स फ्री कैंपस बनवाया। अंतराष्ट्रीय स्तर का ड्रग्स माफिया इक़बाल मिर्ची के प्रॉपर्टी के सन्दर्भ में कारवाई किया। लेकिन मुझे मलाल केवल एक ही रह गया की हमारे सभी तैयारी होने के बावजूद भी कोरोना के महामारी में लगे हुए लॉक डाउन के चलते हम एक सबसे बड़ा अंतराष्ट्रीय ड्रग्स तश्कर को विदेश में जा कर गिरफ्तार कर के देश में लाने के ऑपरेशन को अंजाम नहीं दे सके।

Find Us on Facebook

Trending News