क्या मुरली मनोहर जोशी का बीजेपी से पत्ता हो गया साफ ? लोकसभा प्रत्याशियों की संभावित लिस्ट से नाम गायब

क्या मुरली मनोहर जोशी का बीजेपी से पत्ता हो गया साफ ? लोकसभा प्रत्याशियों की संभावित लिस्ट से नाम गायब

NEWS4NATION DESK : बीजेपी के अंदरखाने से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जिस तरह 2014 के चुनाव में पार्टी ने अपने कई वरिष्ठ नेताओं को हाशिए पर डाल सबको आश्चर्य में डाल दिया था, वहीं इसबार भी कुछ ऐसी ही बात सामने आ रही है। मिल रही जानकारी के अनुसार अमित शाह एंड कंपनी ने एकबार फिर पार्टी को स्थापित करने में अपना जीवन लगाने वाले नेताओं को किनारे लगाने का फैसला किया है। इसबार उनके निशाने पर उत्तर-प्रदेश के कानपुर से सांसद वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी है। 

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार यूपी में बीजेपी के अंदर जिन संभावित प्रत्यासियों की सूची बनी है उसमें जोशी का नाम गायब है। खबर है कि बीजेपी जोशी की जगह यूपी के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना को कानपुर से टिकट दे सकती है। 

सूत्रों के मुताबिक यूपी में बीजेपी जिन नामों पर विचार कर रही है उसमें पीएम नरेन्द्र मोदी एक बार फिर से वाराणसी से चुनाव लड़ सकते हैं।
 
 बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान गृहमंत्री राजनाथ सिंह किस्मत वाले हैं। वे इस बार भी लखनऊ से ही ताल ठोकेंगे। वहीं, स्मृति ईरानी इस बार भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी से मैदान में उतरेंगी।
 
 इसी तरह केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा गौतमबुद्ध नगर, फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी मथुरा, रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ग़ाज़ीपुर और वीरेंदर सिंह भदोही से चुनावी दंगल में कूद सकते हैं।वहीं, रमाशंकर कठेरिया को आगरा, राघव लखनपाल को सहारनपुर, सत्यपाल सिंह को बागपत और कीर्ति वर्धन सिंह को गोंडा से टिकट दिया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक, कंवर सिंह तंवर अमरोहा, महेंद्र नाथ पांडे चंदौली, संतोष गंगवार बरैली, विनोद सोनकर कौशाम्बी और कृष्ण राज शाहजहांपुर से चुनाव लड़ सकते हैं।

वहीं कहा जा रहा है कि राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह को एटा से टिकट दिया जा सकता है। 

Find Us on Facebook

Trending News