"बिहार में का..बा...ई छई ...ऊ छई" के बाद अब हो भैया, दीदी-चाची, बाबू-मैया के सहारे चुनाव फतह करने की तैयारी...

"बिहार में का..बा...ई छई ...ऊ छई" के बाद अब  हो भैया, दीदी-चाची, बाबू-मैया के सहारे चुनाव फतह करने की तैयारी...

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में सोशल मीडिया के माध्यम से भी लोग काफी एक्टिव दिख रहे हैं। एक तरफ जहां राठौर के द्वारा सोशल मीडिया पर बिहार में का ...बा सॉन्ग वायरल किया गया तो दूसरी तरफ मैथिली ठाकुर ने ई छई ...ऊ छई कहते हुए अपने अंदाज में जवाब दिया। अब चुनाव में मतदाताओं को लुभाने के लिए बीजेपी के द्वारा नया गाना जारी किया गया है जिसमें गाना गाते हुए मतदाताओं को वापस बुलाने की अपील की जा रही है वहीं दूसरी तरफ जदयू के द्वारा भी शराब बंद बिहार आनंद’ फिल्म का लोकार्पण किया गया है जिसमें यह कहा गया है कि शराब बंद होने से राज्य में परिवर्तन आया है।

गाने और शराबबंदी के सहारे चुनाव फतह करने की तैयारी...

बिहार विधानसभा चुनाव नेताओं के द्वारा हर हथकंडे को अपनाया जा रहा है। एक तरफ जहां बीजेपी के नेताओं द्वारा विपक्षी पार्टी के हाल-चाल को मात देने की तैयारी की जा रही है तो दूसरी तरफ आबऽ हो बिहार के भैया ...जैसे गाने से मतदाताओं को बुलाने की अपील की जा रही है।वहीं एनडीए गठबंधन में शामिल जेडीयू मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा लिए गए शराबबंदी के ऐतिहासिक फैसले को उपलब्धि बताते हुए लोगों से अपील कर रही है कि शराबबंदी से बिहार का विकास हुआ है और नई उचाई मिली है।


आपको बता दें कि दिल्ली भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद मनोज तिवारी के द्वारा एक गाना गाया गया है जिसमें मतदाताओं को वापस बुलाने की अपील की जा रही है। गाने के बोल कुछ इस तरीके से हैं....आबऽ हो बिहार के भैया .. दीदी-चाची, बाबू-मैया... फिर से बीजेपी पर आशीर्वाद बनाब हो भइया....नरेंद्र मोदी-नीतीश के साथ निभाव हो भइया... नरेंद्र मोदी के संग आबऽ ए भइया.....एक बेर फेर जोर लगा के... अटल-मोदी के नाम गुंजा के...एनडीए के राज बना के...गौरवशाली आपन बिहार के... ‘आत्मनिर्भर’ बनाई जां/ प्रगति के पथ पर बढ़ी जां/ विकसित राज्य बनाई जां! है।

दूसरी तरफ जनता दल यू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह के द्वारा एक  लघु फिल्म का लोकार्पण किया गया है जिसका नाम 'शराब बंद बिहार आनंद’ इस फिल्म में नीतीश कुमार के द्वारा लिए गए शराबबंदी पर ऐतिहासिक फैसले और इस फैसले के बाद बिहार में हुए परिवर्तन के बारे में बताया गया है।जिसकेनिर्माता प्रशांत झा, निर्देशक एमके पप्पू, लेखक चंदन झा, गीतकार पवन शर्मा तथा मुख्य कलाकार सुनील सिंह चोटी एवं कोमल झा हैं। फिल्म का लोकार्पण करने के बाद प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने नीतीश कुमार के शराबबंदी के ऐतिहासिक फैसले की सफलता के बारे में बताते हुए कहा कि नीतीश कुमार के द्वारा बिहार को भय और भेदभाव से मुक्त किया गया है। उन्होंने बिहार को नई ऊंचाई दी है जिसमें सबको विकास का समान अवसर मिला है।

Find Us on Facebook

Trending News